Home देश अचानक ही PM मोदी ने बैंक अधिकारियो के खिलाफ लिया ये सख्त...

अचानक ही PM मोदी ने बैंक अधिकारियो के खिलाफ लिया ये सख्त कदम

SHARE

नीरव मोदी, विजय मालिया ने कांगेस सरकार के दौरान बड़े घोटाले करके फरार हो चुके है. इन घोटालो में बैंक के अधिकारी भी शामिल है. इसीलिए मोदीजी ने लिया बड़ा फैलसा.

मोदीजी ने इन घोटालो की वजहसे लिया एक बड़ा कदम. बैंक के अधिकारीयों को हर ३ साल में बदल दिया जायेगा. अधिकारीयों का हर  ३ साल में ट्रान्सफर किया जायेगा एक शाखा से दूसरी शाखा. मोदीजी ने यह भी ऐलान किया है की जो भी अधिकारी ३ साल से एक ही शाखा में है उनका फ़ौरन ट्रान्सफर किया जाये. क्लर्क पोस्ट वाले को भी १ साल से ज्यादा एक ह शाखा में नहीं रखेंगे. अलग अलग बैंकको ने महा प्रबंधको ,उप महा प्रबंधको, शेत्रिय प्रबंधको, उप शेत्रिय प्रबंधक को आदेश भेजा है. यह  नियम जल्दी ही लागु होंगे. और सारे सरकारी तथा प्राइवेट बैंकको में भी होंगे.  सेंट्रल विजिलेंस कमीशन ने ३१ दिसम्बर २०१७ को अधिकारोयों के रोअततिओन के बारेमे एक सूचना ज़ारी की थी. यह सूचना सभी पर लागु होनी चाहिए थी.

इस सूचना में लिखा था के ३ साल से  अधिक पूरा करने वाले अधुकरोयों को सार्वजनिक बैंक से स्तानांत्रित किया जाये. दुसरे अधिकारी जो ५ साल पुरी कर चुके है उन्हें भी स्तानांत्रित किया जाये. यह बदलाव के बाद सेंट्रल विजिलेंस कमीशन को जानकारी देने के लिए कहा था. वित्त मंत्री का कहना है की सेंट्रल विजिलेंस कमीशन को अभी तक कोई जानकारी नहीं दी गयी. नेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ़ बैंक वर्कर के उपाध्य्षक अशवनी राणा ने कहा की ” अधिकारीयों के ३ साल के बाद स्तानांत्रित के दिव्यन्ग्जनो का ख्याल रखा जाये. उनके स्तानात्रण में नरमी बढे और वह रूचि से काम मरे. सेंट्रल विजिलेंस कमीशन का कहना है की सारे अधिकारीयों का स्तानांत्रित  ५ साल के बाद किया जाये और उनके द्वारा दिए सूचनाओं का सकती से पालन किया जाये.