Home देश आज तक एक भी जंग नहीं हारा है, इस देश ने. अमेरिका...

आज तक एक भी जंग नहीं हारा है, इस देश ने. अमेरिका और रूस भी डरते है इनसे.

SHARE

 

इजरायल एक ऐसा देश जिसका लोहा अच्छे से अच्छा देश मानते है, कारण है इसका अद्वितिय हथियारो से सुसजित होना, यही कारण है की यह देश अजेय है अर्थात जिसे कोई ना हरा सके अथवा जिसे किसी ने भीपराजित ना किया हो.

जब से येरूशलम को इजरायल की राजधानी घोषित किया गया है, फ़िलिस्तीन मे बवाल मचा पड़ा है,इजरायल की कई मुस्लिम देशो से दुश्मनी तो विश्व ग्यात है, और फ़िलिस्तीन सीरिया इराक़ लेबनान ने इसकी जंग आख़िर कौन भूल पाया है??? 1950 मे सैन्य बढ़ाने के लिए उठाए गये कदम, चुनिंदा देशो को हथियारो की सप्लाई इसे बाकी राष्ट्रो से अलग बनाते है. आइए जानते है क्यो क्या विशेषताए है इस राष्ट्र मे बने हथियारो की, यहा बना एरो 3 सिस्ट्म रॉकेट और मिसाइलो को स्पेस से ही नष्ट कर देता है,यही नही इसके पास विश्व का सर्वाधिक शक्तिशाली डिफेन्स सिस्ट्म भी है, यहा बनी बराक- 8 मिसाइल ज़मीन से हवा मे मार करने वाली अचूक मिसाइल है,इजरायल एरोस्पेस इंडस्ट्री और अमेरिकी फर्म बोइंग के कॉरपॉररेशन द्वारा बनाए गये इस सिस्ट्म को इजराइली एयर फोर्स को 2014 मई सौपा था, इससे निकलने वाली मिसाइल की रफ़्तार प्रति मिनिट 2.5 किलोमीटर है,इससे निकालने वाली मिसाइल हवा मे 50 किलोमीटर की दूरी तक किसी भी उड़ती चीज़ को गिरा सकती है जिसे इराक़ ने कुछ भरोसेमंद देशो को ही बेचा है, जिसमे भारत भी शामिल है.

बराक -8 को लेकर 2014 मे भारत और इजरायल के बीच लगभग 100 करोड़ का सौदा हुआ है, टर्बी मिसाइल जो देखने मे पतले है निशाने मे एकदम अचूक है, इसीलिए हवाई हमलो मे पहली पसंद है और दुनिया के सबसे बेहतरीन मिसाइलो मे से एक है.वही ELM2238 स्टार को दुनिया के आधुनिकतम रडार माना गया है, इसकी ख़ासियत इसकी तेज़ी है, यह आसमान और ज़मीन पर दुश्मनो के हथियारो को 250 किलोमीटर की दूरी से पकड़ सकता है, यही नही इसके अलावा इजरायल के पास सबसे आधुनिक फाइटर जेट फार्म भी है सन 1982 मे लेबनान के साथ युद्ध मे इसी जेट की मदद से इजरायल ने तकरीबन 78 फाइटर प्लेन ह्वा मे उड़ा दिए थे, इसकी रेंज 3500 किलोमीटर तक है सिर्फ़ यही नही इजरायल के पास दुनिया का सबसे ख़तरनाक ड्रोन है, जिसका नाम है हैयसन TD है,इसे सबसे पहले 1982 मे डिज़ाइन किया गया था, पर अब इजराइली आर्मी ने इसे इतना आधुनिक बनाया है की, यह सिर्फ़ ड्रोन ना रह कर फाइटर प्लेन का रूप ले चुका है, इस ड्रोन के जादू से अमेरिका भी अछूता नही है, उसने भी इजरायल से यह ड्रोन खरीदे है यही नही इस ड्रोन के बारे मे इजरायल का दावा है की,यह इजरायल से उड़ान भर ईरान मे हमला कर सकता है,

इसकी क्षमताओ की गवाही देने के लिए 1979 मे इजिप्ट और 1982 मे लेबनान के खिलाफ सफलतम प्रयोग है, यह तो हुई वायु सेना की बात, पर इजरायल हथियारो के मामले मे जल और थल सेना मे भी कम नही है..प्रोट्क्ट USV जैसा ख़तरनाक बोट है, इसमे 11 क्रू मेंबर्स को समाने की क्षमता है,जो अलग दिशाओ मे लेन्स की मदद से दुश्मन को देख सकते है, सिर्फ़ इतना ही नही यह जहाज़ मशीन गन और रॉकेट लॉंचर से भी लेस है,थल सेना के लिए इजरायल के मिरकावा टेंक का लोहा पूरा विश्व मानता है, यह किसी भी प्रकार के रास्ते पर 80 किलोमीटर की रफ़्तार से दौड़ सकता है,और इसमे 120 किलोमीटर की तोप भी लगी है,जो एक अच्छी दूरी तक मार कर सकती है.

आकार मे छोटे इस देश मे,सेना के तीनो क्षेत्र जल थल  और नभ मे जहा तक नज़र जाए वहाँ तक हथियारो की एक पूरी फौज खड़ी कर रखी है, और यह फौज इतनी सशक्त है की, कोई भी इनके देश से टक्कर लेने से पहले 100 बार सोचे, इसलिए इजरायल की ताक़त के आगे हर देश नतमस्तक है, देश की सुरक्षा के लिए मेहनत की पाराकाष्ता कर इन हथियारो की निर्मिति ने निश्चित ही इजरायल को एक अजेय देश का दर्जा दिलाया है, यह ना सिर्फ़ एक उपलब्धि है, बल्कि समूचे विश्व के लिए एक प्रेरणा स्त्रोत भी  है .