Home एजुकेशन आमिर लोगों की ये आदते आपको भी बना देगी एक सफल इंसान

आमिर लोगों की ये आदते आपको भी बना देगी एक सफल इंसान

SHARE

आमिर और सफल अब होगा आसन. जि हां आप भी बन सकते है आमिर और सफल कुछ आदते बदलकर. अगर इस ६ चीजों को आप अपने रोज की ज़िन्दगी में लायेंगे तोह अवश्य आमिर और सफल होंगे.

Image result for rich

आमिर और सफल लोगो का एक बेहविऔर पैटर्न होता है. वैह कुछ आदतों से जुड़े होते है. रिसर्च के तौर पे जाना गया है की बहुत सफल लोगो की कुछ आदते होती है जिन्हें रोज नियंत्रण में लाना चाहिए. सबसे पहेले आमिर और  सफल होने के लिए आपको सफल होने की इच्छा होनी चाहिए. सफल होने की इच्छा आपको बड़ा साथ देती है. अगर आपसे कोई पुच्छे की क्या आप सफल होना चाहते हो तोह बेशक आप कहोगे की हां सफल होना चाहता हूँ. कित्नु यह सिर्फ उपरीउत्तर होगा. आपको अपने अन्दर खुदको झाकना होगा की क्या सच में सफल होना चाहते हो? क्या वो आग अपमे है. जब आप कोई अपने पसंदीदा एक्टर को देखकने के बाद ऐसा विचार आता है की आप उनके जैसे ज़िन्दगी जीना पसंद करेंगी. इस बात से आप पता लगा सकते हो की आप में सच सफल होने की इच्छा है या नहीं?

Related image

दूसरा यह है की क्या आप प्रतियोगी भाव है. प्रतियोगी भाव मतलब की ऐसी सोच का  होना जहा आप सोचते हो की में यह चीज़ उससे ज्यादा कर सकता हूँ. कोई मायिने नहीं रखता आप क्या कर रहे हो लेकिन क्या आप उससे बेहतर कर सकते हो तोह यह प्रतियोगी भावना है. इसका होना बहुत ज़रूरी है.  इस भाव से आप हमेशा येही सोचते है की में  तुमसे ज्यादा अच्छे से कर सकता हूँ चाहे कुछ भी हो जाये. ऐसा नही है सारी चीज़े आपको अणि ही चाहिए. कित्नु जो व्यक्ति बार बार प्रयास करता है वह आखिर में जीतता ही है. मान लो की ऑफिस में आपको अपने ऊपर वाले जैसा बनना है कित्नु अगर इच्छा ही नहीं होगी तोह आप नही बन पाओगे. इसीलिए डिजायर याने एक चाह का होना बहूत ज़रूरी है.

Image result for hard work

तीसरा है काम को ख़त्म करना. किसी भी चीजों को ख़त्म करके जाना. गेम खेलते वक़्त आप अगर सोचते है की बस अब यह गेम ख़त्म करके ही जाऊंगा. या फिर किसी भी काम को बिच में न छोड़ना. तथा एक बार काम ठान लिया तोह उससे पूरा करके जाना. सफल लोग अपना काम पूरा करके ही जाते है क्योंकि उन्हें अजीब सी बेचेनी लगी रहती है. जो लोग रोज नया काम करने की सोचता है वह न घर का रहता है ना घट का. वैह कभी भी १ चीज़ पे सोच नही सकते. काम ख़त्म करने की आदत हर सफल और आमिर इन्सान में होती है. चौथा है एक अलग सोच. ऐसे लोग जो हमेशा कुछ नया सोचते हो. अगर पढाई करते वक़्त सोच ले की यह बिल्डिंग गोर जाती तोह क्या होता.

Related image

ऐसे सोच रखने वाले को कहते आउट ऑफ़ बॉक्स थिंकिंग. जो हमेशा किताबों में पड़े रहते है उनकी सोच की सीमा पर रोक लग जाती है.  सोच की कोई सीमा नहीं होती.  पांचवा है जूनून. क्या आप जिस चीज़ को चाहते हो उससे पा लेते हो? हर चीज़ को पाने इस इच्छा के साथ जुनून का होना भी बहुत ज़रूरी है.  मुझे चाहिए मतलब चाहिए क्या ऐसा जुनून आप में है? एक बचा जैसे जुनून में कहता है की मुझे यह खिलौना चाहिए मतलब चाहिए.  जैसे बच्चे बढते है वैसे उनका जूनून किसी भी चीज़ के लिए कम हो जाता है. अगर किसीभी सफल व्यक्ति को देखोगे तोह उसमे जुनून भर भरके भरा है. आखरी और सबसे ज़रूरी डिजायर फॉर मोर. याने और ज्यादा पाने की चाह.

Related image

कोई भी चीज़ मिलने के बाद लगता है की और चाहिए. उसे कहते है डिजायर फॉर मोर. अभी जो परिस्थिति है उसपे गुस्सा आता है. गुस्सा एक नकारात्मक वास्तु है. जिससे बहुत लोगो का नुकसान हुआ है. कित्नु हमे हमरे गुस्से को सही दिशा में ले जाना ज़रूरी है.  गुस्से का सही उपयोग करना आना चाहिए. गुस्से को एक उर्जा की तरह इस्तेमाल करना चाहिए. आपके अन्दर अभी की परिस्थिति से ऊपर उठ्टने की उर्जा तभी आएगी जब आप अभी की परिस्थिति से खुश नही हो. यह और मांगने की चाह कभी ख़त्म नहीं होती.  जितना मिलले उतना कम लगता है. और इसके चलते आप ऊपर उठते रहते हो.  सफल लोग उन्हें नहीं देखते  जो उनके निचे है बल्कि उन्हें देखते है जो उनके ऊपर है. इस बात से जलन का पता चलता है. अगर आप में जलन अच्छी है तोह आप बेशक ऊपर उठोगे.  ये आदते अगर आप में है तोह आमिर और सफल होंगे और अगर नहीं है तोह इसे रोज फॉलो कीजिये.