Home विदेश इस खौफनाक वजह के कारण रूस से डरती है, सारी दुनिया

इस खौफनाक वजह के कारण रूस से डरती है, सारी दुनिया

SHARE

दुनिया में हर देश अपनी ताकत बढाने में लगा हुआ है. लेकिन आज दुनिया का सबसे ज्यादा ताकतवर देश है रूस. रूस ने अपनी स्थिति इतनी मजबूत बना ली है की अमेरिका जैसा देश भी उससे डरता है.

 

वैसे तो दुनिया की सबसे बड़ी महाशक्ति अमेरिका को ही कहा जाता है. किन्तु एक ऐसा देश भी है जिससे अमेरिका तक डरती है. अमेरिका भी इस देश के सामने ज्यादा हिम्मत नहीं दिखाती. यह देश है रूस. अगर कुटनीतिक नजरिये से देखा जाये तो रूस सबसे मजबूत स्थिति में है.रूस की इस शातिर कूटनीति की वजह है रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन. रूस क्षेत्रफल के अनुसार दुनिया का सबसे बड़ा देश है. साल १९९१ से पहले रूस को सोवियत यूनियन कहा जाता था. यह कई देश मिलकर बना था. लेकिन बाकि देशो की कूटनीति की वजह से यह देश १९९१ में अलग हो गए. सोवियत यूनियन के टूटने के बाद अमेरिका दुनिया की सबसे बड़ी महाशक्ति बन गया. लेकिन रूस ने भी अपनी ताकत और तेजी से बढ़ाना शुरू किया.

Related image

इस शक्तिशाली देश के राष्ट्रपती है व्लादिमीर पुतिन. पुतिन एक ऐसे व्यक्ति है जिनके नाम से कई देश चुप हो जाते है. पुतिन अपने देश में बहुत ही चाहिते है और रूस की जनता उनका पूरी तरह समर्थन करती है. वह रूस की ख़ुफ़िया संस्था के जी बी में काम कर चुके है. पुतिन दुनिया के एकलौते ब्लैक बेल्ट विजेता राष्ट्रपति है. वे लढने में माहीर माने जाते है. उनके चलने का तरीका काफी अलग ढंग का है. ये हमेशा से ही एक चर्चा का विषय रहा है. लेकिन लश्कर के विशेषज्ञों का कहना है की यह उनकी के जी बी में ट्रेनिंग का नतीजा है. उनकी ट्रेनिंग के अनुसार वह एक तरफ बन्दुक रखते है और यदी हमला होने की स्थिति उत्पन्न हुई तो वह जल्दी से अपनी गन निकाल कर उसका प्रयोग कर सकते है. इसलिए वह चलते समय अपना एक हाथ नहीं हिलाते.

Image result for russian air force

अमेरिका और पश्चिमी देशो ने हमेशा से ही रूस को दबाने की कोशिश की है लेकिन रूस ने कभी भी उनके सामने हार नहीं मानी. रूस के पास दुनिया के पास सबसे बेहतरीन शक्तिशाली लड़ाकू विमान है जिनके कारन दुनिया के किसी भी देश का रूस के सामने टिक पाना लगभग नामुमकिन है. कुछ ही दिनों पहले रूस ने दुनिया की सबसे तेज मिसाइल का यशस्वी परिक्षण किया है. इस मिसाइल की रफ़्तार ४६०० मिल प्रति घंटा से भी ज्यादा है. इसका तोड़ दुनिया के किसी भी देश के पास नहीं है. ऐसी मिसाइल तो अमेरिका और चीन के पास भी नहीं है. रूस ने अपने सैन्य दल, वायु सेना और नौसेना को कुछ इस तरह सक्षम बनाया है की कोई भी देश रूस से लढ पड़ने से पहले पुनर्विचार करेगा.

Image result for russian armed forces with putin

 

रूस के पास आज किसी भी देश को करार जवाब देने की ताकत है. रूस ने बहुत पहले से ही अपने आप को कुछ इस काबिल बनाया है की कोई भी देश उनके सामने ना टिक पाए. दुसरे महायुध्द में जर्मनी ने बड़े बड़े देशो को पराभूत कर दिया था और कोई भी देश जर्मनी को रोक नहीं पाया था. उस वक़्त भी रूस की रेड आर्मी ने जर्मनी को पराभूत कर दिया था. इतिहासकारों का तो कहना है की जर्मनी की सबसे बड़ी भूल थी रूस से उलजना. उन्हें इस गलती की काफी बड़ी कीमत भी चुकानी पड़ी. अमेरिका जैसी महाशक्ति भी रूस से बचकर रहती है. वैसे तो अमेरिका दुनिया में कई देशो से युध्द कर चूका है लेकिन रूस से कभी भी उलजने की कोशिश नहीं की है.

Related image

दुनिया का एक ऐसा ताकतवर देश और उस देश के सबसे शक्तिशाली राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन पूरी दुनिया पर अपना दबाव बनाये हुए है. रूस और रूस के राष्ट्रपति क्या कर सकते है यह उन्होंने कई बार साबित भी कर दिया है. चीन, जिसे दुनिया की भावी महाशक्ति कहा जाता है वह अपनी सीमा लगत सभी देशो से ज़ुंज़ रहा है. चीन ने खुद से ही हर देश सेसीमा विवाद निर्माण किया हुआ है लेकिन रूस की सीमा पर वह चुपचाप बैठा है क्योंकि चीन को पहले से ही रूस की ताकत का अंदाजा है. अगर देखा जाये तो अधिकतम देशो का कहना है की रूस ही दुनिया का सबसे शक्तिशाली देश है. आज रूस ने जीस तरह अपनी ताकत से दुनिया पर खौफ जमाया है वह सच में काबिल-ए-तारीफ़ है.