Home विदेश इस ताकदवर मुस्लिम देश के एक शहर पर हुआ आतंकियों का कब्ज़ा

इस ताकदवर मुस्लिम देश के एक शहर पर हुआ आतंकियों का कब्ज़ा

SHARE

सऊदी अरब में हमलो के आकडे दिन ही दिन बढ़ते जा रहे है.इरान के समर्थन में से विद्रोही लगातार मिसाइलें लगातार छोड़े जा रहे है. अभी कुछ हुए हेलो में राजधानी पर भी निशाना साधा गया था.लेकिन सऊदी अरब की रक्षा बाले भी उसको रोकने की कोशिश लगातार कर रही है.

सोमवार को सऊदी वायु रक्षा बलो ने कहा की दक्षिण शहर नजरान के ओर ईरान समरथित  हौथी विद्रहियों ने बैलास्टिक मिसाइल से हमला किया.इससे पहले सऊदी की वायु रक्षा ने नजरान क्षेत्र में मिसाइल दागी इसके नतीजे जबकि हौथियों ने रविवार को मिसाइल  से हमला किया.अल अरेबिया के मुताबिक कहना है की १६ अप्रैल को जारी एक गठबंधन के वक्तव्य के मुताबिक़ सऊदी अरब की जमीं को लक्षित करने में १०० से ज्यादा बैलास्टिक मिसाइलों से हमला किया.सऊदी वायु रक्ष उनमे से ज्यदातर हमले रोकने में कामयाब है.सऊदी गेजेट के रिपोर्ट से गठबंधन बलों के प्रवक्ता कर्नल तुर्कि अल-मलिकी ने कहा कि यमन में सादा गवर्नमेंट से मिसाइल हमला शुरू किया. छ महीने पाहिले हुती द्वारा दागी गयी मिसाइलो के कारण यह प्रतिबन्ध लगाये गए थे . सऊदी अरब आरोप लगाती है  की इरान हुती के विद्रोहियों का समर्थन करती है.

सऊदी सेना के रिपोर्ट  मुताबिक हमला शाम ४.२४ बजे होथियों ने हमला किया. रविवार को और मिसाइल के स्प्लिंटर्स नज़रान के आवासीय इलाकों में एक सऊदी राष्ट्रीय स्वामित्व वाले खेत में गिर गए.रेपर्ट के चलते  गठबंधन बालों ने मिसाइल रोक दी और उसे नष्ट कर दिया. वे कहते है की  घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है.लेकिन सम्पति के नुकसान की खबर मिली है लेकिन प्रवक्ता ने इसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी .अल-मल्की कहते है की  मिसाइलों को रोकने के परिणामस्वरूप इसके विस्फोटक टुकड़े आसपास के आवासीय क्षेत्रों पर गिर गए जिससे मिस्र के एक नागरिक की मौत हो गई. अलमलकी ने बताया की  होनेवाले सभी हमले  सऊदी अरब और क्षेत्र की सुरक्षा को प्रभावित करता है.उन्होंने कहा की ईरान द्वारा समर्थित हौती समूह के इस आक्रामक और बिना सोचे समझे उठाए गए कदम से साबित होता है कि ईरानी सरकार सशस्त्र हौती समूह को समर्थन कर रही है.

रिपोर्ट के मुताबिक जजान भी दागी गयी थी मिसाइल.अरब न्यूज़ के अनुसार शुक्रवार को सऊदी वायु सेना के सीमावर्ती जजान में हौथियो से लडाखों द्वारा  दागी गयी मिसाइलों का हमले रोकने के लिए कामयाब हुई.इस हमले से पहले भी इस हफ्ते हुए मिसाइल हमले में दागी गयी मिसाइल को सऊदी वायु सेना द्वारा रोक लिया गया था.सोमवार को कर्नल तुर्की अल-मलिकी ने कहा था की मिसाइल यमन के अमरान प्रान्त से 10:16 pm पर दागी गयी थी और इस मिसाइल का लक्ष्य नजरान प्रान्त को नुकसान पहुँचाना था. उन्होंने कहा था की मिसाइल को नजरान क्षेत्र को नुकसान पहुँचाने से पहले ही रोक लिया गया था.लगातार सऊदी अरब की शहरों पर हमले होते ही जा रहे है जिसका देश का बड़ा नुक्सान हो रहा है.

सोमवार को कर्नल तुर्की अल-मलिकी ने कहा था की मिसाइल यमन के अमरान प्रान्त से 10:16 pm पर दागी गयी थी और इस मिसाइल का लक्ष्य नजरान प्रान्त को नुकसान पहुँचाना था. उन्होंने  साथ भी कहा की मिसाइल को नजरान क्षेत्र को नुकसान पहुँचाने से पहले ही रोक लिया गया था.लेकिन सऊदी अरब भी इसका कड़क जवाब दे रही है.सऊदी अरब युद्धग्रस्त यमन की ओर से दागी गई एक बैलिस्टिक मिसाइल को आज नष्ट कर दिया. एक महीने में यह दूसरा ऐसा हमला है. ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. छ महीने पाहिले हुती द्वारा दागी गयी मिसाइलो के कारण यह प्रतिबन्ध लगाये गए थे . सऊदी अरब आरोप लगाती है  की इरान हुती के विद्रोहियों का समर्थन करती है.

शिया विद्रोहियों से लड़ रहे सऊदी के नेतृत्व वाले सैन्य गठबंधन के प्रवक्ता ने कहा कि सऊदी अरब के दक्षिणी शहर खमिस मुश्त को निशाना बनाकर मिसाइल दागी गई और अभी तक इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है.सऊदी प्रेस एजेंसी ने सऊदी के नेतृत्व वाले गठबंधन के प्रवक्ता तुर्की अल मालिकी के हवाले से कहा की रॉयल सऊदी एयर डिफेंस फोर्सेज ने मिसाइल का पता लगाया जो खमिस मुश्त की ओर बढ़ रही थी. हूती द्वारा चलाए जा रहे अल मसिरा टीवी चैनल ने पहले दावा किया था कि मिसाइल ने सऊदी अरब के भीतर सैन्य लक्ष्य को निशाना बनाया लेकिन सऊदी अधिकारियों ने इसे खारिज कर दिया.हमले से कुछ घंटे पहले विद्रिहियों के प्रमुख अब्दुल्मालिक अल्हुती यमन को प्रतिबन्ध लगाने के लिए गठबंधन सेना की कार्रवाई का जवाब देने की धमकी दी थी.

कुछ महीने पहले  सऊदी अरब के ताकतवर शहजादे मोहम्मद बिन सलमान ने कहा था कि इसे युद्ध की कार्रवाई माना जा सकता है. सऊदी अरब ने ईरान पर हूती विद्रोहियों को हथियार देने का आरोप लगाया है लेकिन ईरान इस आरोप को खारिज करता है. इस बीच, यमन की राजधानी सना में हूती विद्रोहियों और पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्लाह सालेह के समर्थकों के बीच आज लगातार दूसरी रात भी झड़प हुई.सऊदी अरब ने यमन से छोड़ी गयी एक मिसाइल को पहचानकर उसे खत्म कर दिया.मिसाइल का मलबा राजधानी के भीतर ही गिरा.इस हमले की जिम्मेद्दारी हुती हमलावरों ने ली है.सऊदी अरब के राजधानी पर किया गया यह पहला हमला है जो यमन में बढ़ते संघर्ष को बढ़ावा देता है.अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के समीप  शनिवार को हुए बड़े हमले की आवाज रियाद के नागरिकों ने सुनी.

अधिकारियों ने बताया कि इसमें कोई बड़ा नुकसान नहीं हुआ.उन्होंने यह भी कहा की कोई हताहत नहीं हुआ. सऊदी प्रेस एजेंसी ने गठबंधन के प्रवक्ता तुर्की अल मलिकी के हवाले से कहा कि शनिवार शाम को यमन के क्षेत्र से सऊदी अरब की ओर एक बैलिस्टिक मिसाइल दागी गई. नागरिकों और आबादी वाले इलाकों को निशाना बनाने के लिए मिसाइल दागी गई. मिसाइल के नष्ट किए गए टुकड़े हवाई अड्डे के गैर आबादी वाले इलाके में गिरे. किसी को चोट नहीं पहुंची है. हूती के अल मसीराह टीवी चैनल के रिपोर्ट के मुताबिक़ हूती विद्रोही हवाई अड्डे को निशाना बना रहे थे. विद्रोहियों ने रियाद से 1,200 किलोमीटर से अधिक दूरी से मिसाइल दागी.इसी तरह से सऊदी अरब पर विद्रोहोयों द्वारा लगातार हमले होते ही जा रहे है.