Home देश इस धोकेबाज़ देश ने पहले दिया भारत का समर्थन, अब दे दी...

इस धोकेबाज़ देश ने पहले दिया भारत का समर्थन, अब दे दी है ये धमकी

SHARE

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की कूटनीति से भारत को कई देशो का साथ मिल चूका है. लेकिन एक ऐसा देश है जिसने पहले तो भारत का साथ दिया किन्तु अब वह भारत के खिलाफ हो गया है.

Image result for india with other countries deals

पिछले साल से पी एम मोदी ने दुनियाभर के अनेक देशो से कई तरह के समझौते कर लिए है. जिनसे भारत को उन देशो का साथ मिल गया है. यह देश अब चीन के खिलाफ भी भारत का ही साथ देंगे. ओमान, अरब अमीरात और अमरीका जैसे देश अब भारत के पक्ष में है. लेकिन एक देश ऐसा है जिसने पहले तो भारत का साथ दिया था लेकिन अब वह भारत के खिलाफ खड़ा हो गया है, वह चीन के पक्ष में हो गया है और भारत को अप्रत्यक्ष रूप से बोल सुना रहा है. भारत का साथ अब उसने छोड़ दिया है. इस देश का नाम है कज़ाकिस्तान. यह छोटासा देश है जो चीन के पड़ोस में स्थित है. इस देश का भी चीन के साथ कुछ मात्रा में सीमा विवाद जारी था.

Related image

कज़ाकिस्तान ने भारत के समर्थन में कहा था की भारत को चीन से डरने की कोई जरुरत नहीं है. डरने की बजाए उसे चीन का डटकर सामना करना चाहिए. इस मामले में हम भारत के साथ है. और उसने आगे ये भी कहा था की वे भारत के लिए मुश्किल से मुश्किल काम कर सकते है. इन सब बातो से यह बात तो स्पष्ट थी के कज़ाकिस्तान पूरी तरह भारत के पक्ष में है. और जाहिर ही उसने भारत का दिल भी जीत लिया था. लेकिन इस सब के बाद कज़ाकिस्तान ने अचानक अपना मनन बदल लिया. वह भारत के बदले चीन की ओर चला गया है. उसके इस फैसले की घोषणा उसने खुलकर की है और चीन से अपनी दोस्ती और मजबूत बनाने के प्रयासों में लग गया है.

Image result for kazakhstan pm in china

वे कहते है की चीन जैसी ताकत किसी भी अन्य देश में नहीं है. और यदि कोई भी देश चीन से युध्द में उलझता है तो उसे बहुत ही बुरे अंजामो से गुज़ारना होगा. चीन से मिली हुई कुछ मदत की वजह से कज़ाकिस्तान ने अपना मन बदल लिया है और वह भारत के बजाए चीन की पक्ष में चला गया है. कज़ाकिस्तान ने एक तरह से भारत को धोका भी दिया है और धमकी भी. इसलिए अब भारत को भी सावधान रहना चाहिए और अपने सच्चे मित्र पहचान लेने चाहिए. जीस तरह भारत दुसरे देशो से समजौते कर रहा है और जैसे भारत को दुनियाभर से समर्थन मिल रहा है, चीन ने भी अपने कदम बढाना शुरू कर दिया है. चीन भी अब अन्य राष्ट्रों से दोस्ती के लिए हात बाधा रहा है.

Image result for kazakhstan pm

इन सब समजौतो और बातचीत के बाद कज़ाकिस्तान के प्रधान मंत्री ने कहा की चीन हमारे लिए एक बहुत ही अच्छा दोस्त है. और हमने उसे पहचानने में देर लगा दी है. इससे साफ़ है की चीन के साथ हुए समजौतो से कज़ाकिस्तान की नियत बदल गयी है. कज़ाकिस्तान के प्रधान मंत्री जब अपनी चीन यात्रा ख़त्म कर के अपने देश लौटे, तो उन्होंने अपने भाषण से सबसे पहले भारत पर हमला कर दिया. उन्होंने  कहा है की चीन के साथ हमारे सम्बन्ध पहले से ही अच्छे थे किन्तु अब बहुत ही अच्छे हो गए है. उन्होंने अप्रत्यक्ष रूप से भारत को इशारा करते हुए कहा की हम अपने दोस्त को अच्छी तरह से पहचान नहीं पाए. और फिर एक बार भारत पर हमला बोल कर उन्होंने कहा की दुनिया के हर देश को चीन से डरना जरुरी है.