Home देश इस मामले में चाइना रह गया भारत से पीछे. भारत बना World...

इस मामले में चाइना रह गया भारत से पीछे. भारत बना World का नंबर वन Country

SHARE

भारत के अब हर घर मे LPG है, और यही वजह की भारत चाइना को पीछे छोड़ सर्वाधिक LPG आयात करने वाले देशो मे शुमार हो गया है, सरकार द्वारा हर घर LPG घर का सपना अब पूरा होता नज़र आ रहा है.

दिसंबर के अंत मे भारत २४ लाख टन ल्प्फ आयात कर लेगा, जो चीन की कुल आयात से एक मिलियन ज़्यादा है और ऐसा पहली बार हुआ है. २०१५ की शुरुआत मे LPG आयात का आँकड़ा तकरीबन १० लाख टन था, जो लगभग दो साल मे दोगुने से भी ज़्यादा हो गया है, ऐसी जबरदस्त वृद्धि देखकर डॉरियन LPG के चीफ़ फाइनान्षियल ‘टेड यंग’ ने कहा की: भारत मे हुई लगभग दो सालो मे हुई LPG उपभोक्ताओ की वृद्धि वाकई क़ाबिले तारीफ है, पहले जहा यह १४ करोड़ हुआ करती थी वही अब यह १८ करोड़ है, डॉरियन कंपनी ने यह अनुमान लगाया है की भारत मे गैसोलींन पर टेक्स लगने से कारो मे LPG ईस्तमाल बढ़ने की संभावना है जिससे खपत और अधिक बढ़ेगी और LPG के आयात मे और अधिक वृद्धि होगी. २०१७ मे भारत का मासिक LPG आयात १७ लाख टन था और चीन २२ लाख टन.

लेकिन सालके अंत तक कुछ ऐसा हुआ, जिसकी किसी ने परिकल्पना भी नही की थी,जी हाँ वर्ष के अंत मे भारत ने यह रेकॉर्ड तोड़ दिया. यह अब २४ लाख टन है, भारत अपना ज़्यादातर LPG, US और MIDDLE EAST देशों से खरीदता है, आइकान Data के अनुसार भारत ने इस वर्ष के शुरूुआत मे US ५०००० टन से १ लाख टन मासिक LPG आयात करता था और दिसंबर आते आते यह आँकड़ा तकरीबन २ लाख टन तक जा पहुचा है, मिड्ल ईस्ट भारत मे LPG की सस्ती कीमतो को देखकर अपना बाज़ार विस्तार करने मे लगा है, इस तरह के विदेशी निवेश और एलपीजी का बढ़ता आयातीकरण भारत को आर्थिक विश्वमे एक अलग स्थान पर लाकर खड़ा कर देगा. चीन को पीछे छोड़ना सिर्फ़ एक पड़ाव है, अभी कई मंजीले तय करनी बाकी है,जहा भारत मे हर एक रसोई मुस्कुरा रही है वही दूजी ओर देश के चेहरे पर आर्थिक समृद्धि की एक लंबी मुस्कान है. इन आकड़ो को देखकर लगता है आने वाला साल भारत के लिए वाकई समृद्धि भरा है