Home विदेश उपचुनावों में हार के बाद भी PM मोदी को world bank से...

उपचुनावों में हार के बाद भी PM मोदी को world bank से मिली ये खुशखबरी

SHARE

पिछले हफ्ते उत्तर प्रदेश और बिहार में हुए उपचुनाव में भा ज पा को हार का सामना करना पड़ा. इससे विपक्ष नेता बहुत खुश हुए है. प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार के लिए यह पराजय नामुष्की भरा रहा. विपक्ष के नेताओ इसका जोरो से जश्न मनाया. किन्तु फिर एक बार यह बात साबित हो गयी की प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ही देश के लिए सही नेता है और भा ज पा की सरकार ही देश का विकास कर सकती है. वर्ल्ड बैंक द्वारा एक रिपोर्ट जारी की गयी है, जिसमे भारत की अर्थ्व्यवस्था की वृध्दि साफ़ नजर आती है.

वर्ल्ड बैंक ने हाल ही में एक रिपोर्ट जारी की जिसमे कहा गया है की भारत की अर्थव्यवस्था साल २०१९-२० तक ७.३% पर बनी रह सकती है. हाल ही में भारत की जी डी पी की विकास दर ७.२% बताई गयी है, जो काफी संतोषजनक है. और इसके साथ ही भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ रही अर्थव्यवस्था बन गया है. जी डी पी में हुई वृध्दि मोदी सर्कार के आर्थिक धोरानों की सफलता दर्शाती है. विश्व बैंक ने भारतीय अर्थव्यवस्था के स्थिरता के संकेत दिए है. इतना ही नहीं, भारत चीन की जी डी पी से आगे बढ़ चूका है. पिछले तिमाही की जी डी पी को ध्यान में लिया जाये तो चीन की जी डी पी ६.८% से आगे बढ़ रही है, तो भारत की जी डी पी ७.५% की दर से विकास कर रही है.

मेक इन इंडिया और स्टार्टअप में सरकार से मिलने वाली मदत से देश में उत्पादन को गति मिली है. देश के सीमान्त व्यक्ति का बैंक खाता खोलने से हर कोई अर्थव्यवस्था के मुख्य प्रवाह से जुड़ गया है. world बैंक का कहना है की विमुद्रीकरण के निचले स्टार पर पहुँचने के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर साल २०१९-२० तक ७.५% तक बनी रह सकती है. चालू वर्ष २०१८ में जी डी पी दर ७.३% तक बढ़ सकती है. पिछले वर्ष भारत ने चीन में निवेश करने वाले कई देशों को भारत में निवेश के लिए आमंत्रित किया है, जिससे चीन में होने वाला निवेश कुछ हद्द तक घाट चूका है तो वही भारत में निवेश दर बढ़ गया है. मोदी सरकार द्वारा लागू नए धोरण समय ले रहे है लेकिन धीरे धीरे अपना असर दिखा रहे है.