Home देश किसी भी समय इस देश में हो सकती है, नीरव मोदी की...

किसी भी समय इस देश में हो सकती है, नीरव मोदी की गिरफ्तारी

SHARE

भारत में आज सबसे बड़ी चर्चा हो रही है पंजाब नेशनल बैंक में किये गए घोटाले की. पंजाब नेशनल बैंक में फर्जी दस्तावेजों के बल पर करीब ११,५०० करोड़ का घोटाला सामने आया है. इस घोटाले के मुख्य आरोपी है भारत के मशहूर हीरों के व्यापारी नीरव मोदी है. यह मामल अताब सामने आया जब बैंक के एक वरिष्ठ आधिकारी ने इस घोटाले के खिलाफ एफ आई आर दर्ज करायी. लेकिन इस शिकायत के दर्ज होने के पहले ही नीरव मोदी भारत छोड़ कर निकल चुके थे. और वह अभी तक वापस नहीं आये है. अब उनकी गिरफ्तारी के लिए कोशिश की जा रही है.

चीन ने सोमवार को कहा है कि भारत के हीरा के कारोबारी नीरव मोदी की गिरफ्तारी के मामले में हांगकांग भारत के साथ अपने न्यायिक समझौते के तहत फैसला लेने के लिए स्वतंत्र है. इसमें चीन कोई भी हस्तक्षेप नहीं करेगा. भारत के विदेश राज्यमंत्री वी के सिंह ने पिछले हफ्ते चीन के विशेष प्रशासनिक क्षेत्र हांगकांग से नीरव मोदी की गिरफ्तारी की मांग की थी. इस विषय में चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने मीडिया को कहा है की ‘यदि भारत ने हांगकांग से प्रासंगिक अनुरोध किया है तो हमें भरोसा है कि वह अपने बुनियादी और संबंधित कानून के आधार पर निर्णय ले सकता है.’ हांगकांग एक देश दो प्रणाली के तहत दूसरे देशों के साथ अपने संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए आजाद है.

हांगकांग में नीरव मोदी की गिरफ्तारी की संभावनायें अब बढ़ गईं हैं. चीन ने कहा है कि उसके नियंत्रण में चलने वाली हांगकांग की विशेष सरकार इस मामले में भारत के अनुरोध पर अपने स्तर पर निर्णय ले सकती है. हांगकांग पर अब चीन का प्रभावी नियंत्रण है. चीन ने कहा है कि हांगकांग अपने कानून और दूसरे देश के साथ न्यायिक सहायता समझौते के अनुरूप मामले में फैसला ले सकता है. कहा जा रहा है कि भारत ने हांगकांग के साथ भगोड़े अपराधियों के समर्पण के समझौते के तहत आभूषण कारोबारी नीरव मोदी को गिरफ्तार करने का अनुरोध किया है. नीरव मोदी भारत से भागा हुआ आरोपी है और उसके खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है. भारत के विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने पिछले सप्ताह संसद में कहा था कि उनके मंत्रालय ने हांग कांग विशेष प्रशासकीय क्षेत्र से नीरव मोदी की अस्थाई गिरफ्तारी करने का आग्रह किया है.

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने संवाददाता सम्मेलन में भारत के आग्रह के बारे में पूछे जाने पर कहा की ‘‘हांगकांग विशेष प्रशासकीय क्षेत्र के मूल कानून और एक देश दो प्रणाली के मुताबिक केन्द्र सरकार की मंजूरी और सहायता के तहत हांगकांग दूसरे देशों के साथ आपसी न्यायिक सहायता के मामले में उचित व्यवस्था कर सकता है.’’ उन्होंने कहा ‘‘यदि भारत हांगकांग विशेष प्रशासकीय क्षेत्र से उचित आग्रह करता है तो हमारा मानना है कि हांगकांग संबद्ध मुद्दे पर अपने मूलभूत और संबंधित काननों तथा भारत के साथ संबद्ध न्यायिक समझौतों के अनुरूप कदम उठायेगा. ’’ अब जब चीन ने यह कहा है कि हांग कांग न्यायिक समझौते के अनुरूप कदम उठा सकता है , अधिकारियों का कहना है कि अब हांग कांग और भारत के बीच हुये “भगोड़े अपराधी का समर्पण समझौता” अमल में लाया जा सकता है.

पंजाब नेशनल बैंक से जुड़े क़रीब ११,५०० करोड़ रुपये के घोटाले में नीरव मोदी भारत में वांटेड आरोपी है. रिपोर्टों के अनुसार वह इस समय हांगकांग में स्थित है. इस घोटाले के केंद्र में हैं नीरव मोदी. गुरुवार को विपक्षी कांग्रेस ने नीरव मोदी का नाम लेते हुए प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा. सरकार का कहना है कि नीरव मोदी, उनकी पत्नी एमी और उनके भाई निशाल और उनके बिजनेस पार्टनर मेहुल चोकसी पर कार्रवाई की जा रही है. समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक केंद्रीय जांच ब्यूरो के अधिकारियों ने बताया है कि पंजाब नैशनल बैंक को नीरव मोदी, उनके भाई, पत्नी और कारोबारी साझेदार ने कथित तौर पर २८० करोड़ रुपये से ज़्यादा की चपत लगाई है.केन्द्रीय जांच ब्यूरोI ने पंजाब नैशनल बैंक की शिकायत पर कदम उठाए है.

बैंक का दावा है कि नीरव, उनके भाई निशाल, पत्नी अमी और मेहुल चीनूभाई चोकसी ने बैंक के अधिकारियों के साथ साज़िश रची और बैंक को नुकसान पहुंचाया है. ये सभी डायमंड आर यूएस, सोलर एक्सपोर्ट और स्टेलर डायमंड्स में व्यावसायिक साझेदार है. इन चारों के ख़िलाफ़ भारतीय दंड संहिता की उन धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है जो आपराधिक साज़िश रचने, धोखाधड़ी से जुड़े हैं. इसके अलावा प्रीवेंशन ऑफ़ करप्शन ऐक्ट के प्रावधानों के तहत भी आरोप तय किए गए हैं. आय कर अधिकारियों ने ३१ जनवरी को उनके यहां छापा मारा था. दिल्ली, सूरत और जयपुर में उनके दफ्तरों पर आईटी विभाग की नज़र पहले से थी. ज्वेलरी डिजाइनर 2.3 अरब डॉलर के फ़ायरस्टार डायमंड के संस्थापक हैं और उनके ग्राहकों में दुनिया के जाने-माने हस्तिया शामिल हैं.

नीरव मोदी के डिजाइनर ज्वेलरी बूटीक लंदन, न्यूयॉर्क, लास वेगास, हवाई, सिंगापुर, बीजिंग और मकाऊ में हैं. भारत में उनके स्टोर मुंबई और दिल्ली में है. नीरव मोदी ने अपने ही नाम से साल २०१० में ग्लोबल डायमंड ज्वेलरी हाउस की नींव रखी थी. कंपनी का मुख्यालय भारत के मुंबई शहर में है. नीरव डायमंड का कारोबार करने वाले परिवार से आते हैं और बेल्जियम के एंटवर्प शहर में उनका पालन-पोषण हुआ है. ऐसा बताया जाता है कि युवा उम्र से ही उनकी दिलचस्पी आर्ट और डिजाइन में थी और वो यूरोप के अलग-अलग म्यूज़ियम में आते-जाते थे. इसके बाद भारत में जाकर बसने और डायमंड ट्रेडिंग बिज़नेस के सभी पहलुओं की ट्रेनिंग लेने के बाद साल १९९९ में उन्होंने फ़ायरस्टार की नींव रखी. ये एक डायमंड सोर्सिंग और ट्रेडिंग कंपनी है. साल २००८ में नीरव के एक करीबी दोस्त ने उन्हें ईयररिंग बनाने को कहा.