Home देश चीन से निपटने ने के लिए PM मोदी ने लिया ये हाहाकारी...

चीन से निपटने ने के लिए PM मोदी ने लिया ये हाहाकारी फैसला

SHARE

भारत के लिए काफी समय से खतरा सिर्फ पाकिस्तान से है. ये सदियों से चला रहा है. लेकिन इस बार चाइना एक बड़ा खतरा हो चूका है. धोक्लाम विवाद के समय चाइना की और से भारत को कई धमकियां मिल्ली.

 

जैसे की हमे पता है की भारत देश एक ताकतवर देश है ऐसे धम्कियूं का जवाब अवश हिभारात्देता है. देर से सही लेकिन भारत देश हमेशा अपने दुश्मनों को मुह तोड़ जवाब देता है. इसी प्रकार भारत देश ने चाइना को ऐसा जवाब दिया की पाकिस्तान भी दंग रह गया. युद्ध के समय काफी साडी चीज़े इस्तेमाल होती है. हमारे देशने ऐसे गुप्त स्तान पे अनपे हतियार बनाना शुरू कर दिया है. जहा चाइना लेज़र बम बना रही है वही भारत देश एक फरीदाबाद की एक फैक्ट्री में स्मार्ट बम बनाये जा रहे है. ये स्मार्ट GPRS से जुदा है. GPRS की मदत से हम लक्ष्य को तभा कर सकते है वो भी बिना संकोच के. यानि हमरा निशाना कभी नहीं चुकेगा. ये बम किसी भी स्थिति में बिना चुके निशाना लगाया जा सकता है. इसे की खास बात है की हवा की दबाव के कारन भी ये अपना लक्ष्य नहीं छोड़ेगा.

Image result for INDIAN SMART BOMB

ये बम काफी ताकतवर और होशियार है. ये बम अगर किसी लक्ष्य पे रख दिया जाये तोह बीच में आयी हुई ईमारत को तभा करते हुए १० फीट गहरा और १५० मीटर रेडियस में गढ़ा बनाता है.  ५०० किलो का ये बम GPRS के सहायता से अपना काम शुरू करेगा. ये बम अपने लक्ष्य को १५००० की फीट से और १० फीट ज़मीन के अन्दर छुपे हुए दुश्मनों को ख़तम कर देता है. ये बम काफी मात्रा में बनाया जा रहा है. ये स्मार्ट बम सभी को दंग कर देगा. ये बम काफी खतरनाक साबित होगा जिसे चाइना के होश उदा देगा. इसका डिजाईन एलाय स्टील से किया गया है. ये बम फ्रांस से ख़रीदा हुआ राफेल जेट में लॉन्च किया जायेगा. ये बम सभी इस्तेमाल करेंगे, जैसे की इंडियन नेवी और दुसरे युद्ध में भाग लेने वाले.

Related image

स्मार्ट बम की खास बात है की अगर हम दुश्मनोको निशाने पे रख दे तोह उनकी एयरक्राफ्ट अदि को विनाश कर देगा. और कुछ पल में दुश्मन खत्म हो जायेगा.स्मार्ट बम को पैदा करने का सिर्फ एक ही मकसद है की चाइना के लेज़र गाइडेड बम को ख़त्म कर दे. इस बम को भारतीय एयरक्राफ्ट और राफेल जैसे लॉन्च करेंगे.इस बममें सेंसर भी है जो टारगेट करनेके बाद पायलट को ८०० मीटर पहेली ही बीप ऐसा संकेत देगा. जब टारगेट करे तोह आस पास की भी जानकारी मिल सकती है. इससे पायलट को पताचल जायेगा कि निशाना कहा लगाना है. डायरेक्टर स.क.गोयल ने कहा है की उन्हें १०००० बम बनाने का आर्डर मिला है.ये बम में GPRS होने के कारन काफी फायदेमंदह है. स्मार्ट बम दुश्मनों को खत्म करने में काफी मदत करने वाला है. ये स्मार्ट बम भारत देश के लिए एक फाठेर बम जैसे कहलाया जायेगा.