जब सादगी ही स्टाइल बन गई: मोदी कुर्ता की अनकही कहानी

मोदी कुर्ता लोगों में बहुत अधिक लोकप्रिय है, लेकिन आमतौर पर इसे एक ऐसा ‘स्टाइल स्टेटमेंट’ माना जाता है, जिसकी शुरुआत के मूल में अत्यधिक सादगी है।

‘मोदी कुर्ता’ की शुरुआत के बारे में प्रधानमंत्री ने बताया:

“आरएसएस और भाजपा में काम का मतलब सिर्फ अत्यधिक यात्राएं ही नहीं, बल्कि अनिश्चित और दुश्कर कार्यक्रम भी है। और मैं तो अपने कपड़े हमेशा खुद ही धोता था, मैं सोचा कि पूरी बांह का कुर्ता धोना अधिक कठिन था और ज्यादा समय लेता था तो मैंने अपने कुर्ते को काटकर आधी बांह का कर देने का फैसला किया।”

इस तरह मोदी कुर्ता की शुरुआत हुई!

समय बीतने के साथ, खासतौर से हाल के कुछ वर्षों में मोदी कुर्ता दुनिया भर में प्रसिद्ध हो गया। इसके अलावा ‘मोदी मास्क’, कप, टी-शर्ट, बैज और यहां तक कि चॉकलेट जैसी चीजें भी समय समय पर देखी गईं, लेकिन इनमें से कुछ भी मोदी कुर्ता जितना लोकप्रिय नहीं हुआ। मोदी कुर्ता की सादगी ही उसे खास बना देती है।