Home देश दुबई छोड़कर भाग गयी दुबई की राजकुमारी, ये वजह आयी सामने

दुबई छोड़कर भाग गयी दुबई की राजकुमारी, ये वजह आयी सामने

SHARE

दुबई दुनिया का जाना माना देश है. दुबई सात अरब अमिरतो में से एक है. दुबई दुनियाभर में अपनी ऊँची इमारते, आलीशान गाड़ियां, शान शौकत के लिए मशहूर है. यहाँ आज भी लोकतंत्र नहीं है. दुबई सरकार एक संवैधानिक राजशाही ढांचे से चलने वाला देश है. दुबई के कायदे कानून कुछ अजीब है. यहाँ के कुछ इयं सुनकर आप चौंक जायेंगे. यहाँ महिलाओं के लिए आज भी कई बातों की आज़ादी नहीं है. यहाँ तक की हाल के समय तक यहाँ की औरतों को वोट करने का अधिकार तक नहीं मिला था. यहाँ के ऐसे कानूनों से यहाँ की राजकुमारी तक नहीं बच पायी है.

दुबई में मौजूदा शासक है शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मख्तूम. उनकी बेटी हाल ही में दुबई छोड़कर भाग निकली है. दुबई की इस राजकुमारी का नाम शेख लातिफा है. ३३ वर्षीय लतीफा ने अपने भाग जाने की वजह प्रसार माध्यमों को बताई है. उनकी यहाँ से निकल जाने की वजह सुनकर पूरी  हैरान हो चुकी है. दुबई की राजकुमारी शेख लातिफा ने अपने देश से फरार होकर अमेरिका की शरण मांगी है. शेखा लतीफा ने बताया है कि मुझे तीन सालों से कैद बंधक बनाकर रखा जा रहा था. इसलिए वे अपनी सामान्य जिंदगी जीने के लिए देश छोड़कर फरार हो गई हैं. ब्रिटिश मीडिया को भेजे अपने संदेश में 33 वर्षीय राजकुमारी शेख लातिफा का दावा है कि उन्होंने १६ साल की उम्र में एक बार देश छोड़कर भागने की कोशिश की थी.

इसलिए तब से सब उन्हें संदेह की निगाह से देखा जा रहा हैं. उन्हें आजादी से अपनी जिंदगी जीने की इजाजत ही नहीं दी गयी है.  आजादी की इस चाहत ने उसे अपना मुल्क छोड़कर भागने पर मजबूर कर दिया.  दुबई की राजकुमारी शेखा लतीफा ने कहा कि उन्हें साल २००० से उन्हें कही बाहर जाने पर पाबंदी लगा दी गई है. वहीं मुझे गाडी चलाने की भी अनुमति नहीं दी गई है. यही नहीं मुझे अपना पासपोर्ट रखने की भी अनुमति नहीं दी गई है, मेरे कुछ जानवरों के अलावा कोई और दोस्त नहीं, यहां मैं शाही इजाजत के बगैर दुबई से कहीं नहीं जा सकती हूँ. और दुबई में मेरा कोई सामाजिक जीवन नहीं है. राजकुमारी ने दावा किया है कि वह अपने पिता के ३० बच्चों में से एक है.

राजकुमारी शैख़ लातिफा के दावों के मुताबिक उसके पिता ने ६ शादियां की है. मेल ऑनलाइन में एक ऑडियो सन्देश में शैख़ लतीफा ने कहा है की “मैंने संयुक्त अरब अमीरात को छोड़ दिया है लेकिन मैं अब भी खतरे से बाहर नहीं हूँ. मैं अब भी सुरक्षित होने से बहुत दूर हूँ. मुझे उम्मीद है की सबकुछ ठीक हो जायेगा क्योंकि बहुत से लोग मेरी मदद भी कर रहे है. ख़बरों के मुताबिक राजकुमारी शैख़ लतीफा इस वक़्त दक्षिण भारत के समुद्री तट पर समंदर में किसी नाव में छुपी है. शैख़ लतीफा अपने वकील की मदद से अमेरिका में राजनितिक शरण लेना चाहती है. राजकुमारी के बयान के मुताबिक वह एक पूर्व फ्रेंच जासूस की मदद से अरब राज्य में उत्पीड़न से बचने में कामयाब हो पायी है.

लातिफा फ्रांसीसी जासूस की मदद से फरार हुई है. यह जासूस अपनी बोट से दुबई से लोगों को बाहर निकलने में मदद करता है. शैख़ लातिफा का कहना है कि उसके देश में उसे उतनी भी आजादी नहीं है जितना दूसरे मुल्कों के लोग यहां बतौर सैलानी आकर करते हैं. लातिफा के मुताबिक जब आपको आजादी होती है तो आप इसका मोल नहीं समझ पाते हैं, लेकिन अगर आप आजाद नहीं होते हैं तभी आपको इसकी अहमियत पता चलती है. फरार राजकुमारी की मानें तो पहले भी दुबई की दो राजकुमारियां देश छोड़कर भाग चुकी है. उनसे से एक बाद में पकड़ ली गई थी. राजकुमारी शैख़ लतीफा इस वक़्त समुद्री तट पर किसी नाव में छुपी हुई है लेकिन फिर भी उन्हें दुबई वापस ले जाए जाने का दार सता रहा है.

वाकई दुबे के कुछ कानून दुनिया से बिल्कुल अलग है खास करके भारत से. दुबई की शासन प्रणाली संबैधानिक राजतन्त्र और यहां पर सरिया (इस्लामिक) कानून लागू है. कोई महिला भी सिर्फ अपने पति के साथ ही होटलों में एक कमरे में रुक सकती हैं . किसी अन्य महिला के साथ रात गुजारना गैरकानूनी माना जाता है. बलात्कार और यौन शोषण से जुड़े मामलों में यहाँ काफी सख्त कानून है. पीड़िता के चार गवाह, अगर घटने का पुष्टि कर दिया तो आरोपी को सजा मिल जाता है. पुष्टि नहीं होने पर पीड़ित के साथ आरोपियों को भी जेल जाना पड़ता है. यहां के सरकार एवं राजघरानों पर किसी तरह का अभद्र कमेंट करना भी गैरकानूनी माना जाता है. प्रवासियों के पासपोर्ट में गलत जानकारी पकड़े जाने पर उसे वापस अपने देश भेज दिया जाता है या उसे जेल भेज दिया जाता है.

चेक बाउंस होने पर भी कड़ा कानून है. जब तक आप चेक पर लिखे पूरी रकम को अदा नहीं कर देते हैं, तब तक चेक देने वालों को जेल में रहना पड़ता है. शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की निगरानी में दुबई सरकार दावा करती है कि वहां जीरो परसेंट क्राइम रेट है दरअसल दुबई सरकार अपने देश में हुई एक गलत गतिविधि में जिम्मेदार लोगों को सख्त मुस्लिम लोगों द्वारा ही सजा सुनाती है जिससे न सिर्फ वहां रहने वाले लोग बल्कि विदेशी भी जेल जाने से या देश निकाला दिए जाने से डरते हैं. राजा शेख मोहम्मद को अपनी पुलिस पर बहुत नाज है इसीलिए तो वह वहां की पुलिस को महंगी से महंगी गाड़ी देने में भी नहीं कतराते जिनमें फरारी, एस्टन, मार्टिन, बुगाती जैसी कारें शामिल है जो पर्यटकों के आकर्षण का कारण भी बनती है.