Home देश नेपाली PM भी रह गए हैरान, जब PM मोदी ने उनके सवाल...

नेपाली PM भी रह गए हैरान, जब PM मोदी ने उनके सवाल जवाब दिया कुछ इस अंदाज में

SHARE

मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले के बाद पुराने नोटों को बदलने पर बहोत हल्ला मचा हुआ था. लेकिन अब भारत में नोटबंदी के बाद पुराने नोटों को बदलने का मामला खत्म हो चुका है. लेकिन पड़ोसी देश नेपाल में ये पुराने नोट ही सबसे बड़ी समस्या बने हुए हैं.

आपको बता दे की भारत के प्रधान मंत्री आज के दिन नेपाल दौरे पर गए हुए है. इस दौरे पर नेपाल के पुराने नोटों के बारे में अब मोदी जी ने एक फैसला लिया है यह जानकारी मिली है हाला की नेपाल को यह उम्मीद भी थी कि मोदी के इस दौरे पर पुराने नोटों को मसला हल हो सकता है. जानकारी के मुताबिक़ नेपाल के पास ५०० और १००० के पुराने हजारों करोड़ों नोट हैं और इन्हें नेपाली सरकार भारत से बदलने का आग्रह कर रही है. नेपाल की अपनी करेंसी होने के बावजूद भी वहां के लोग भारत की करेंसी में भी लेनदेन करते हैं. खबरों की माने भारत ने नोट बदलने से पहले अपनी शर्तें और चिंताएं होने की बात कही है और इस पर नेपाल को गंभीरता दिखानी होगी यह भी बताया है.

सूत्रों के मुताबिक़ भारत के दो शर्तो में से पहली शर्त यह है की नेपाल इस बात की गारंटी दे कि जो भी नोट बदलने आएगा, उसे अपनी पहचान और जानकारी शेयर करनी होगी और दूसरी शर्त है कि नोट बदलने की एक निर्धारित सीमा तय की जाएगी और अगर समय सीमा निकलती है फिर उसके बाद भी कोई नोट बदलता है तो उसे अपनी इनकम का खुलासा भी करना होगा. भारत के इन दो शर्तो पर नेपाल के पुराने नोटों की समस्या हल कर सकता है. शर्तों के अलावा भारत ने भारतीयों द्वारा पुराने नोटों को नेपाल में ठिकाने लगाने की कोशिशों पर चिंता जताई है. काला धन फंसाने के मामले में कारोबारी इसका फायदा उठा सकते हैं इसलिए भारत को नोट बदलने के दौरान पूरी सावधानी बरतनी होगी.

आपको बता दे अगर नेपाल सरकार भारत ने नोटों के बदलने पर राखी शर्तों को मान जाता है तो भारत उसके यहां मौजूद हजारों-करोड़ों नोटों के संकट को हल कर सकता है. सामने आई जानकारी के मुताबिक़ आपको बता दे की पिछले महीने नेपाल में करीब ४९ लाख रुपए के ५०० और १००० नोट पकड़े गए थे. आरबीआई के एक आंकड़े के मुताबिक यह जानकारी मिली है. प्रधान मंत्री मोदी ने सत्ता पर आते ही नोटबंदी की घोषणा की थी. उन्होंने ८ नवंबर २०१६ को नोटबंदी की घोषणा की थी. नोटबंदी के तहत ५०० व १००० रुपये के नोटों का प्रचलन बंद कर दिया गया था. नेपाल के राष्ट्रीय बैंक, नेपाल राष्ट्रीय बैंक के अनुसार लगभग ३.३६ करोड़ भारतीय रुपये इस समय नेपाली बैंकिंग प्रणाली में हैं यह खबर भी सामने आई है.