Home देश प्रधानमंत्री ने गौ रक्षकों को बताया गोरख धंधो का मास्टरमाइंड

प्रधानमंत्री ने गौ रक्षकों को बताया गोरख धंधो का मास्टरमाइंड

SHARE
source

प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने गौ भक्तों को दिया नया काम ,राज्य सरकारों को गौ रक्षक का डाटा तैयार करने को कहा ।

एक कार्यक्रम के दौरान प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी ने गौ भक्तों को जमकर फटकार लगाई, उन्होंने अपने भाषण मे कहा की-” मैं उन लोगों पर इतना गुस्सा आता हूं जो गौ-रक्षक व्यवसाय में हैं। एक गौ-भक्त अलग है, गौ सेवा (गाय संरक्षण) अलग है। मैंने देखा है कि कुछ लोग सारी रात अपराध करते हैं और दिन मे गौ  रक्षक का चोला पहन लेते  हैं।

उन्होंने एक कहानी का उदहारण देते हुए कहा -” पहले के ज़माने मे देखा जाता था की जब बाद्शओं और राजाओं मे लड़ाई होती थी तो बादशा क्या करते थे अपनी लड़ाई फ़ौज के आगे वो गायों की एक बड़ी फ़ौज रखते थे, इससे क्या होता था की राजा बिना आक्रमण किये ही हार जाता था, ऐसा होता था इसलिए क्यूंकि राजा लोग लोग गौ माता पर आक्रमण करते और वो मर जाती तो उन्हें पाप का भागीदारी बनना पड़ता ।

इसलिए वो बिना आक्रमण किये ही जुंग मे अपनी हार मान लेते थे । प्रधान मंत्री मोदी ने कहा कि वे तथाकथित गौ रक्षक की एक फाइल तैयार करने के लिए राज्यों से आग्रह करेंगे। “70-80% ऐसे लोग होंगे जो समाज-विरोधी गतिविधियों में शामिल होकर गौ राक्षस होने का नाटक करके अपने पापों को छिपाने की कोशिश करते हैं।

अगर वे सच्चे संरक्षक हैं, तो उन्हें यह महसूस करना चाहिए कि ज्यादातर गायों प्लास्टिक की वजह से मर जाती हैं, वध करने स  नहीं। प्लास्टिक खाने से गायों को रोको। ” प्रधानमंत्री ने बताया  कि जब   वो गुजरात के  मुख्यमंत्री थे तो वह पर हर साल वो पशु स्वास्थ शिविर लगाते थे । इन शिविरों मे ऐसे गायों का ऑपरेशन होता जिनके पेट मे प्लास्टिक होती।

एक बार प्रधान मंत्री इस कार्यक्रम मे गये तो उन्होंने देखा की एक गाये के पेट से 2 बाल्टी प्लास्टिक ऑपरेशन के बाद निकला । यह देखना मेरे लिए काफी निराशाजनक था। मैं गौ रक्षकों से आग्रह करना चाहूँगा की वो गौ माताओं को प्लास्टिक खाने  पर रोक  लगाये । मोदीजी की ये न्यूज़ अच्छी लगी हो तो इस न्यूज़ को आगे शेयर जरुर करे .