Home देश फिर एक बार PM मोदी को लेकर वर्ड बैंक ने जारी की...

फिर एक बार PM मोदी को लेकर वर्ड बैंक ने जारी की ये रिपोर्ट

SHARE

भारत देश जब से आजाद हुआ है तब से कोंग्रेस पार्टी सत्ता पर थी. कई वर्षों तक सत्ता हाथ मैं होने के बावजूत भी देश का कोई विकास कर नहीं पायी.परंतु मोदी सरकर सत्ते पर आई तब से हर क्षेत्र में विकास कर रही है.पी एम् मोदी के निर्देश के अनुसार भारत अब शक्तिशाली बन रहा है.वो अभी चीन को भी पीछें पछाड़ कर आगे निकल रहा है और तेज गति से बढ़ने वाली अर्थव्यस्था भारत बन गया है.कोंग्रेस के समय जो विदेशी मुद्रा भंडार जो २७९ अरब डॉलर था वो मोदी के आने के बाद चार ही सालों में ४२३ अरब डॉलर पर पहुँच गया है.

जैसे हम देखते आ रहे है की मोदी जि नज़र हर तरफ फैली हुयी है तो विकास भी सभी तरफ हो रहा है.अर्थव्यवस्था की बात हो या उद्योग धंदे की बात हो हर क्षेत्र में भारत को सफलता हाशिल हो रही है. भारत को सॉफ्टवेर की दुनिया में मिली गयी नयी उचाई देख कर वर्ल्ड बैंक ने भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारत देश का एक ज़बरदस्त रिपोर्ट दिया है.यह रिपोर्ट देख कर कई जनों को हैरान कर देगा.हम सबको पता है की अमेरिका में स्थित एक कंपनी जिसका नाम सिलिकॉन वैली है उसको सॉफ्टवेर कंपनियों का हब कहा जाता है. उस कंपनी में भारतीय वंश भी काम करते है.जब वर्ल्ड बैंक ने सर्वेक्षण के बाद अपने रिपोर्ट में कहा है की कुछ साल मोदी सरकर रही तो भारत तेजी से आगे बढेगा और केवल ५ साल में ही भारत में भी एक सिलिकॉन वैली बन सकती है

इससे ये साबित होता है की मोदीजी ने टेक्नोलॉजी पर अपना ध्यान लगाया है और इसका परिणाम भी हमे दिखाए दे रहा है.वर्ल्ड बैंक की दिई रिपोर्ट के अनुसार भारत देश में अब नयी तकनिकी ,नए अविष्कार दिखाई दे रहे रहे बस उसको विस्तार देने की जरुरत है.इससे पहले वर्ल्ड बैंक,इंटरनेशनल मोनेटरी फण्ड और वर्ल्ड इकनोमिक फोरम ने भारत के अर्थव्यस्था के ऊपर अच्छी रिपोर्ट दी थी.भारत के पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखार्जीने कहा है की २०१९ तक भारत की जीडीपी ८ फीसदी तक पहुँच जाएगी.भारतीये अर्थव्यस्था की वसूली की रफ़्तार अब जोड़ पकड़ रही और बुनियादा ढाचा क्षेत्रों में फेब्रुवारी महीने में ५ दशमलव ३ प्रतिशत से बढ़ोत्तरी दर्ज की गयी.इस तरह हर तरफ से भारत की अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबरे आ रही है.ये सब मुमकिन हो सका इसका कारन है रिफाइनरी उत्पात और सीमेंट के क्षेत्रों में अच्छी हुई कामगिरी.

फेब्रुअरी में पेट्रोलियम रिफाइनरी उत्पादकों में ७ दशमलव ८ प्रतिशत की तेज वृद्धि रिकॉर्ड रही और देख जाये तो पिछले साल के फेब्रुअरी महीने में शुन्य से २ दशमलव से निचे था.उर्वरक में ३ दशलक ५ प्रतिशत और सीमेंट व्यवसय में २२ दशमलव
९ प्रतिशत की बढ़ोत्तरी रही.पिछले साल बिजली उत्पादन १ दशलक २ प्रतिशत था तो इस साल ४ प्रतिशत बड़ा है.भारत अर्थव्यवस्था बहोत तेजी और मजबूती से बढ़ रहा है.शेयर बाज़ार ने भी इस साल एक बड़ा इतिहास रच दिया है.५० शहरों ने एन ए सी सूचकांक निफ्टी में ग्यारह हज़ार का अकड़ा पार किया और ३० शहरों बी ए सी सूचकांक छत्तिश हज़ार का अंक भी पर कर दिया.बाकि देशों में सभी तरफ आर्थिक मंदी चल रही है.बड़े बड़े देश जैसे की अमेरिका उसका शिकार हो रही है परंतु भारत अपनी प्रगति बड़ी तेजी से कर रहा है.यह हमे भारतीय अर्थव्यवस्था के निवेशकों के भरोसे को दिखता है.