Home देश मैं मुस्लिम टोपी नही पहनूंगा: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

मैं मुस्लिम टोपी नही पहनूंगा: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

SHARE

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2011 मे एक कार्यक्रम के दौरान मंच पर मुस्लिम मौलाना द्वारा दी गई टोपी पहने से इंकार कर दिया था। यह वाकया तब का है जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे।

source

प्रधानमंत्री ने इस  घटना का जवाब 2015 मे एक टीवी इंटरव्यू के दौरान, एंकर के पूछे जाने पर बड़ी बेबाकी से दिया था। एंकर ने पूछा था प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से की -” आप असम गए, आसमीस टोपी पहने, पंजाब गये, सिख लोगों की टोपी पहनी, आपने मुस्लिम टोपी क्यूँ नही पहनी? इस प्रश्न का जवाब मोदीजी ने बड़े ही रोमांचक तरीके से दिया।

source

इस प्रशन का उत्तर मोदी जी ने बड़े विनम्र भाव और साफ़ लहजो मैं दिया, उन्होंने कहा की-“मुस्लिम टोपी इबादत के लिए है, सियासत के लिए नही, वो रोजाना  मे पहने वाली चीज नही है, वो उनके इबादत करने का हिस्सा है , रोजाना के कपड़ो का हिस्सा नही है। मुझे मेरी परम्पराओं का आदर करना चाहिए, मुझे सबकी  परम्पराओं का आदर करना चाहिए ।

source

मुझे सब परम्पराओं का आदर करने आता भी है लेकिन पालन मुझे मेरी परम्पराओं का करना है  मुझे क्या कपड़े पहने चाहिए, कैसे कपड़े पहने चाहिए , कैसे कलर पहने चाहिए , अगर ये भी आप लोग तय करने वाले हैं तो फिर भारत के संविधान  द्वारा दी गयी मेरी स्वतंत्रता का क्या, क्या मे उस स्वतंत्रता का आनंद न उठाऊ क्या ? ऐसे  मोदीजी ने एकर से कहा ।

भारत के संविधान ने मुझे हक दिया है और वो हक का मुझे आनंद लेना है ।    मेरा गुनाह तब बनता है जब मैं आपकी टोपी उछालता हूँ, आपकी टोपी की आलोचना करता हूँ । जिन्होंने भी टोपी को ले कर राजनीति की है, उन्हें शर्मिंदा होना चाहिए । जिनको टोपी मे इतनी ही श्रद्धा है वो बारहों महीने क्यूँ नही पहनते, 24 घंटे क्यूँ नही पहनते ।

कुछ लोगों को खुश करने के लिए क्यूँ पहनते हैं, फोटो निकलवाने के लिए क्यूँ पहनते हैं। क्या कभी महात्मा गाँधी ने समाज को जोड़ने के लिए टोपी पहना था क्या, पंडित नेहरु ने पहनी थी क्या । ये एक विकृति है हमारे लोक तंत्र मे , जो इस प्रकार से उपयोग करते हैं । अगर मोदीजी की ये न्यूज़ आपको अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.