Home देश यह देश अमेरिका और जापान को भी पीछे छोड़ बना Powerful Counrty

यह देश अमेरिका और जापान को भी पीछे छोड़ बना Powerful Counrty

SHARE

चीन हर दिन अपने देश की स्थिति मजबूत बनाने की कोशिशो में लगा हुआ है. चीन ने अपनी वायु सेना में एक नयी मोहर लगा ली है. चीन की वायु सेना में नविन जे २० लड़ाकू विमान को शामिल कर लिया है.

चीन ने जे २० लड़ाकू विमान को अपने वायु सेना की बेदी में शामिल कर लिया है. यह विमान बम बरसाने में माहिर है. इससे चीन की लड़ाकू क्षमता बढ़ जाएगी. बम बरसाने वाले लड़ाकू विमानों को अपनी सेना में शामिल करने वाला चीन इस क्षेत्र का पहला देश है. चीनी पीपल्स लिबरेशन आर्मी तथा पी एन आ वायुसेना के प्रवक्ता शीन जिंके ने घोषणा की के चीन के वायुसेना की कड़ी में नए जे २० लड़ाकू विमानों को शामिल किया गया है. उन्होंने कहा की देश की लड़ाकू क्षमता को बढ़ने में ईन विमानों का शामिल होना एक महत्वपूर्ण कदम है. युद्ध के कायु में इन विमानों के शामिल होने पर वायु सेना ने पायलटों के प्रशिक्षण में महत्वपूर्ण प्रगति की है. जानकारों के अनुसार इसकी शुरुआत भारत के लिए असरकारक होगी क्योंकि भारत की वायुसेना को अभी तक सक्षम लड़ाकू विमान नहीं मिला है.

 

यह विमान ना सिर्फ बम बरसाने में उपयोगी है बल्कि यह रडार से बचने में भी सक्षम है. भारतीय वायुसेना के पास ऐसा राडार से बचने की क्षमता रखने वाला कोई विमान अभी तक उपलब्ध नहीं हुआ है. जे २० चौथी पीढ़ी के मध्यम और लम्बी दुरी तक मार करने के लिए सक्षम विमान है. जे २० ने वायुसेना रेड्स्वार २०१७ अभ्यास में महत्वपूर्ण एहेम निभायी थी. इस कदम से अमेरिका और जापान के वर्चस्व को चीन एशिया में तोड़ देगा. रडार से बचने वाले ईन विमानों की वजह से चीन अब जंग के मैदान में अधिक ताकदवर बन गया है. तिब्बत जैसे उंचाई वाले क्षेत्र में इन विमानों का ख़ास उपयोग होगा. ऐसे विमानों को अपनी वायु सेना में शामिल करने वाला अमेरिका के बाद सबसे पहला देश होगा. जे २० विमान ने साल २०१२ में पहली बार उड़ान भरी थी. चीन के ११ वे एयर शो में ईस विमान को पहली बार सार्वजनिक किया गया.