Home एजुकेशन ISRO देगा 14GB प्रति सेकंड की इंटरनेट Speed, May से शुरु होगी...

ISRO देगा 14GB प्रति सेकंड की इंटरनेट Speed, May से शुरु होगी सर्विस

SHARE

भारत दिन ब दिन हर शेत्र में बढ़ रहा है. टेक्निकल मामलो कुछ ज्यादा ही तेज़ चल रहा है. आज कल सभी को इनेर्नेट की ज़रुरत रहती है. और इन्टरनेट लो चाहिए स्पीड.

Image result for 4g internet

भारत में जब 3G से 4G आया तोह भारत  के लोगो की ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा. लोगो को 4G से काफी तेज़ स्पीड मिल्ली है. अब तक के ज्यादा टेलिकॉम इंडस्ट्रीज में बिज़नस करने वाले मुकेश अम्बानी ने भी 4G नेटवर्क लॉन्च करके लोगो का फायदा किया. कित्नु इस साल मई से भारत में संचार की दुनिया में बहुत बड़ा बदलाव होने जा रहा है. इस बदलाव से लोग १ सेकंड में १ GB की ३ फिल्मे डाउनलोड कर सकते है. इसके लिए आपको कोई केबल,तार,डिश जैसे साधन नहीं लगाने पड़ेंगे.  यह वायरलेस हो जायेगा. अब ज्यादा स्पीड होगी GSAT-11 से. इस सॅटॅलाइट को फ्रांस के स्पेस एजेंसी अरिअने  लॉन्च करेंगे. इस सॅटॅलाइट का वजन ५७०० किलोग्राम है. इस सॅटॅलाइट का विकास अहमदाबाद के इसरो स्पेस सेंटर ने किया है.

Related image

यह सॅटॅलाइट भारत का अब तक का सबसे वजनिय सॅटॅलाइट है. यह सॅटॅलाइट वजन में भरी है इसीलिए इसरो ने अरिअने से छोड़ने के लिए करार किया है. अगर ये सॅटॅलाइट लॉन्च होने में कामयाब हो गया तोह भारत के पास खुदका एक सॅटॅलाइट बेस्ड इन्टरनेट हो जायेगा. इस वजहसे इन्टरनेट स्पीड भी बढ़ जाएगी. इस सॅटॅलाइट के वजहसे डाटा भेजी जाने क रफ़्तार १४ GB प्रति सेकंड हो जाएगी. इस वक़्त देश में डाटा का संचार कुछ mb प्रति सेकंड हो रहा है. इस सॅटॅलाइट से देश के कोई भी कोने में इन्टरनेट का इस्तेमाल करना सबसे आसान हो जायेगा. टीवी,इन्टरनेट को इस्तेमाल करने के लिए सिर्फ एक दोंगल की ज़रुरत होगी. इस सॅटॅलाइट को मंजूरी २००९ में मिल्ली थी. इस सॅटॅलाइट का मकसद इनेर्नेट जि स्पीड बढ़ाना है.  ऐसे ३ सॅटॅलाइट १८ महीने में भेजे जायेंगे.

Related image

यह सॅटॅलाइट बेस्ड इन्टरनेट सीरीज का हिस्सा है. पहेला  सॅटॅलाइट GSAT-19 है जो पिछले साल जून में लॉन्च किया था. GSAT-11 को लॉन्च करने की तैयारी शुरू है. GSAT-20 को इस साल के अंत में लॉन्च करने की योजना है. जल्दी ही भारत को हाई स्पीड इन्टरनेट इस्तेमाल करने को मिलेगा. यह सॅटॅलाइटस मल्टीप्ल बीम स्पॉट पर काम करेंगी. इससे इन्टरनेट कनेक्टिविटी सस्ती हो जाएगी. टेलिकॉम इंडस्ट्रीज को नुकसान हो सकता है शायद. पुरे देश में इन्टरनेट की सुविधा उपलभ्द होगी.  टीवी कार्यक्रम बिना डिश लगाये देखे जा सकते है. स्मार्ट फ़ोन की भी दुनिया बदल जाएगी. यह एक ज़रूरी ट्रांसमिशन है.  भारत की साइबर सुरक्षा मजबूत होगी. बैंकिंग सिस्टम को भी सुरक्षा देगी. यह इन्टरनेट के साथ एक नए युग की और बढेगा. १४ gb की हाई स्पीड से ऑनलाइन वर्ल्ड को रफ़्तार मिलेगी.