Home राज्य PM मोदी के खिलाफ, अविश्वास प्रस्ताव पर शिवसेना ने लिया ये बड़ा...

PM मोदी के खिलाफ, अविश्वास प्रस्ताव पर शिवसेना ने लिया ये बड़ा फैसला

SHARE

बीजेपी सरकार २०१४ में जब से सत्ता में आई हैं. हर कोई भ्रष्टाचारी इस सुलझे हुए सरकार का दुश्मन बन गया हैं, हर किसी छोटी बात को सरकार को घेरने की कोशिश करता हैं, वरोधी पक्ष आये दिन राज्य सभा का कामकाज तहकूब करते हैं, बीजेपी के खिलाप नारे बाजी लगाती हैं. बीजेपी कोई भी अच्छा काम करने जा रही हो विरोधियों को देखा नहीं जाता ये लोग इस काम में बीजेपी के आड़े आते हैं. इसी के चलते बीजेपी के खिलाप कोंग्रेस समेत विरोधियों ने अविश्वास दाखिल किया हैं. जिसपर शिवसेना ने बीजेपी के लिए इन विरोधियों की बाजी पलट दी हैं.

लोकसभा में आम लोगों की प्रश्न सुलझाने की वजह राजकीय बेहेस में ही सभा तहकूब होती जा रही हैं. इसके चलते लोकसभा एकसाथ ११ वे दिन भी बंद करनी पड़ी आज के दिन भी कोंग्रेस में हंगामा मचा दिया इनके साथ आज तेलगु देसम भी मिले हुए थे. हार रोज आम जनता का पैसा बर्बाद होता चला जा रहा हैं, इस हंगामे की वजह से सोमवार को भी लोकसभा सवाल और जवाब नहीं हो पाए जिससे आम जनता का नुकसान होते दिख रहा हैं. बैठक शुरू होने से पूर्व ही तेलगू देसम, वायआरएस, कोंग्रेस, अन्नाद्रमुकम और टीआरएस की सदस्यों ने जमकर हंगामा खड़ा करते हुए नारेबाजी की, इसी के चलते सदन की बैठक को स्टॉप करते हुए १२ बजे तक के लिए स्थगित किया गया. जिससे काफी लोग परेशान हो गए हैं.

इसके चलते जो बीजेपी के खिलाप अविश्वास प्रस्ताव लाये जाने वाला था इसे नहीं लाया जा सका. इसी के साथ ही बीजेपी की गठबंधन वाली पार्टी जो बीजेपी के खिलाप हमेशा कड़ी होती हैं जो हीन शिवसेना उन्होंने एक बड़ा निर्णय लिया, इस निर्णय से सभी चौक गए. अभी अभी सूत्रों से जानकारी मिल रही हैं की सभी विरोधी पार्टिया मिलकर नरेन्द्र मोदी के सरकार के खिलाप अविश्वास पत्र दाखिल करना चाहती थी उनमेसे शिवसेना एक थी लेकिन अब शिवसेना ने इस मुद्दे पर से अपने आप को अलग कर लिया. कई बड़े मुद्दों पर बीजेपी का साथ छोड़ने वाली शिवसेना ने ये बड़ा निर्णय लिया है. जिससे सभी के होश उड़ गए हैं. शिवसेना ने इस पर बात करते हुए कहा की इस प्रस्ताव के वक्त संसद में उनके लोग शामिल नहीं रहेंगे.

ये बात शिवसेना संसद अरविन्द सामंत ने कही. साथ ही उन्होंने कहा की शिवसेना की बीजेपी पर नाराजगी हैं लेकिन हम अविश्वास दाखिल नहीं करेंगे इस समय पार्टी बीजेपी के लिए तटस्थ रहेंगी. जब अविश्वास दखल करने का दिन आयेगा शिवसेना के सभी १८ के १८ संसद इस समय वहा पर मोजूद नहीं होंगे हम अविश्वास से सहमत नहीं हैं. उन्होंने कहा की ओ बीजेपी का विरोध नहीं करेंगे साथ ही समर्थन भी नहीं करंगे इसी लिए संसद शिवसेना सीटों से खाली रहेगा. अब ऐसा लग रहा हैं की शिवसेना पडदे के पीछे से बीजेपी का साथ दे रही हैं. ये कदम उठाने से बीजेपी सरकार को भारी मात्रा से मदत मिल गई हैं. क्युंकी जब अविश्वास दाखिल होगा तो बीजेपी अपना बहुमत साबित करने में लग जाएगी इस समय संसद में शिवसेना न होने से उन्हें बहुमत हासिल करने में आसानी होंगी.

कई बड़े पक्ष के नेता ने अविश्वास पर सोमवार के दिन कारवाही की मांग की थी लेकिन लोकसभा के तहकूब होने के कारन इसे रद करना पड़ा था, अब शिवसेना के साथ न होने से कोंग्रेस समेत सभी विरोधी पक्षों को झटका लग गया हैं तो वाही दूसरी और बीजेपी का फायदा होने जा रहा हैं. इसी कारन बीजेपी अविश्वास को लेकर बिलकुल ही बेफिक्र हैं. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष हरी बाबु ने कहा की उन्हें अविश्वास से अब कोई टेंशन नहीं हैं जिन्हें अविश्वास की नोटिस देनी हो ओ दे सकते हैं. साथ ही कहा की सभी पार्टिया मीकर भी बीजेपी का कुछ बिगड़ नहीं सकती हम सभ एकसाथ हैं और लड़ने के लिए तैयार हैं. साथ ही हम अपने पार्टी का बहुमत साबित करने के लिए तैयार हैं.