Home देश PM मोदी ने भारतीय वायुसेना को लेकर लिए इस फैसले से, पाक...

PM मोदी ने भारतीय वायुसेना को लेकर लिए इस फैसले से, पाक में मचा मातम

SHARE

२०१४ में नरेन्द्र मोदी की सरकार ने बीजेपी का झंडा पुरे इंडिया में लहराया पूरी जोश से बीजेपी इलेक्शन में उतरी और पुरे बहुमत से सरकार बनाने में कामयाब बनी. तभी से नरेन्द्र मोदी दे इंडिया के हित के देश से लेकर विदेश से बहोत से ऐसे करार किये जिससे इंडिया को फ़ायदा हुआ, साथ ही नरेन्द्र मोदी के विदेशी दौरों से भारत का नाम सात समुंदर पार के देशों में भी पहिले से जादा लेने लगे. कई ऐसे विरोधी देश भारत की बढती अर्थव्यवस्था को देख घबराने लगे. चीन और पाक जैसे बड़े दुश्मन भी इंडिया का लोहा मानने लगे.

नरेन्द्र मोदी सरकार पर आने से पूर्व कई वादे किये थे इसमे एक बड़ा वादा ये भी था की में किसी भी स्थिति में देश को झुकने नहीं दूंगा, इस वादे को पूरा करते हुए नरेन्द्र मोदी ने इंडिया का सर कभी भी किसी के सामने झुकने नहीं दिया. अब इसी वादे के चलते मोदी जीने फिर एक बार बड़ा कदम उठाया हैं, पाकिस्तान से भारत को हमेशासे ही खतरा बना हुआ रहता हैं, पाकने आज से पूर्व कई बार भारत पर हमाल किया हैं और कई बार हमले की कोशिश में दिखाई देता हैं लेकिन भारत ने इसका मुहतोड़ जवाब दिया हैं. सभी को कारगिल का युद्ध तो मालूम होगा ही तब के इंडिया के पीएम अटलबिहारी वाजपेयी थे. इस युद्ध में सेना ने पीएम के आदेश से मुह तोड़ जवाब दिया था और ये युद्ध भी जित लिया था.

ऐसे ही चाइना और पाकिस्तान से युद्ध होने से खतरे को जानते हुए इंडिया पूरी तरीकेसे तैयार हैं, इसके लिए भारतीय वायु सेना ने अपना पहला कदम उठाया हैं वायु सेना आगले हप्ते में पाकिस्तान के सीमा लगत पश्चिम में स्पाईडर इजराइल एयर मिसाइल डिफेंस सिस्टम को युद्ध के सम्भावना के चलते तैनात करने जा रही हैं. ये सिस्टम युद्ध को लेकर बेहद खास हैं, ये ख़ास हैं क्यूंकि अगर पाक सीमा से कोई भी मिसाइल या अन्य हानिकारक साधन आया तो ये डिफेंस सिस्टम उसे ख़त्म कर देगा जिससे भरत को कोई नुकसान नहीं होगा. ये इंडिया का हतियार पाक से आने वाला कोई भी हवाई खतरा पाहिले ही ट्रैप करेगा और उसे बर्खास्त कर लेगा. इंडिया के रक्षा मंत्रालय के वरिष्ट अधिकारी ने कहा की इस मिसाइल को पश्चिमी सीमा में तैनात करने की साडी तयारी शुरू हो गई हैं.

ये मिसाइल दुश्मन के खेमे से आने वाली लड़ाकू विमान, लो लेवल मिसाइल, जासूसी विमान समेत ड्रोन का पता लगा सकता हैं, साथ ही उसे एक क्षण में तबाह कर सकता हैं. इंडिया की स्पाईदर मिसाइल १५ किलोमीटर तक साथ ही २० से ९००० मीटर तक ऊंचाई पर कोई भी खतरा हो तो दुश्मन के किसी भी खतरे से बचा सकता हैं, भारतीय वायु सेना इस नए मिसाइल में आकाश नमक मिसाइल का उपयोग करलेगी. ये मिसाइल जमीन से हवा में उठने वाली मिसाइल हैं इसकी रेंज २५ किलोमीटर तक की अधिक हैं. इन सब मिसाइल के साथ रडार भी रखा जायेगा जो हमारे सैन्य को मदत करेगा जोकि दुश्मन की हर चाल पर नजर रखेगा और मिसाइल का पता लगाएगा. ताकि इंडिया की मिसाइल उसे तबाह करने में कामयाब हो जाये.

ये आकाश मिसाइल शत्रु के ट्रैप किये जाने मिसाइल को पल भर में समाप्त करलेगी. भारतीय वायु सेना ने युद्ध को सम्भावना को पहले से ही परख लिया हैं इसीका सैन्य सौदा २००८ में कर लिया हैं. सौदा करने के तिन चार दिन के अंदर ही इसका काम भी शुरू हो गया था. इन सभी मिसाइलों को सही वक्त में अपनी जगह जाने के लिए ट्रक की जरुरत थी जिन्हें लाने में देर हुई इसका कारन हैं कोंग्रेस की सरकार कोंग्रेस के साथ बिगड़े रिश्ते में ये काम बहुत दिनों तक पेंडिंग रहा था. इन सभी इंडिया की पोजीशन देख पाक और चीन की हालत खराब हो उठी हैं, इन देशों को अब डर सताया जा रहा हैं. नरेन्द्र मोदी ने अब युद्ध को मद्धे नजर रखते हुए सभी बड़े फैसे लेने शुरू कर दिए हैं. जिसका भारी जुरमाना पाक और चीन को भुगतना पड सकता हैं.