Home देश PNB घोटाले में गोकुलनाथ शेट्टी ने CBI को दिए इस बयान के...

PNB घोटाले में गोकुलनाथ शेट्टी ने CBI को दिए इस बयान के बाद खुली कांग्रेस की पोल

SHARE

नीरव मोदी के बैंक के घोटाले की जांच में रोज नयी खबर सुनने मिलती है. रोज नए अधिकारी और नेताओं की पोल खुल रही है. घोटाले में कोण कोण शामिल है इसकी जांच जोरो शोरो से हो रही है.

नीरव मोदी के घोटाले की वजहसे सीबीआई ने कड़ी कारवाही करना शुरू कर दिया है. कारवाही के दौरान कई मशहूर हस्तियों का नाम सामने आया है. जीसे उनके काले कारनामो का पता चल गया है. लगता है की बहुत लोग इसमें शामिल है. सबसे पहेल कांग्रेस के राहुल गाँधी ने मोदीजी पर आरोप लगते हुए कहा की ” मोदीजी नीरव मोदी पर कड़ी कारवाही नहीं कर रहे है. शायद मोदीजी भी इस घोटाले में शामिल है.” कांग्रेस के राहुल गाँधी ने बहुत सारी गलत बाते की मोदीजी के बारेमे. जो बेबुनियाद थी. कभी की जांच जैसे आगे बढ़ रही है वैसे राहुल गाँधी, सोनिया गाँधी, रोबर्ट वाड्रा आदि  इन लोगो को भी शक के घेरे में रखा है. इसीलिए इन लोगो के खिलाफ भी आगे जाकर जांच हो सकती है.

पंजाब नेशनल बैंक के अधिकारी गोकुलनाथ शेट्टी की सीबीआई द्वारा जांच हुई. उनके पुच ताछ के दौरान उन्होंने कबूल किया की ” यह फ्रॉड कांग्रेस सरकार के दौरान शुरू हुआ था.” उन्होंने बताया की नीरव मोदी और मेहुल चिक्सी को २००८ से ही लैटर ऑफ़ अंडरटेकिंग (LOU ) दिए जा रहे थे. इस बयान के कारन अब बीजेपी कांग्रेस सरकार पे हावी हो गयी है. उत्तर प्रदेश के सांसद प्रदभूषण शरण शिंह ने कहा की मोदीजी बहुत अच्छा काम कर रहे है. वह भ्रष्टाचारीओं के खिलाफ काम रहे है. नीरव मोदी को जल्दी ही भारत लाया जायेगा. सभावना है की अगला वार राहुल गाँधी, सोनिया गाँधी और रोबर्ट वाड्रा पर हो सकता है . मोदीजी इन लोगो की जांच करवाएंगे और कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी भारत को लुटने वालों को.

बीजेपी के एक कार्यकर्ते ने कहा की ” नीरव मोदी कांग्रेस की ही देन  है.” नीरव मोदी २०१० से कारोबार में आये औए ३ सालो में उन्होंने इतनी तरकी कर ली की वैह दुनिया की सबसे आमिर लोगो की अनुक्रमणिका में आ गए. उनका नाम ” फ़ोर्ब्स ” नाम की माँगजिन में भी है. फ़ोर्ब्स माँगजिन दुनिया के आमिर लोगो के बारेमे बताता है. कांग्रेस सरकार ने ही नीरव मोदी की मद्दत की है और इतना बड़ा घोटाला हो गया. सूत्रों के अनुसार कांग्रेस के वरिष्ट नेते और पूर्व वित्त मंत्री पी.चिदंबरम ने नीरव मोदी को  मुंबई में २ कमरों का फ्लैट किराये पे दिया था. नीरव मोदी ३५ लाख का किराया हर महीने पी.चिदंबरम को देते थे. इससे थोडा शक हो सकता है की क्या कोई गलत काम हो रहा था जिससे नीरव मोदी इतनी बड़ी रक्कम पी.चिदंबरम को दे हर माह दे रहे थे.

जांच के दौरान नीरव मोदी के परिवार, रिश्तेदार, दोस्तों के १५० शैल कंपनीओं का खुलासा हुआ है. शैल कंपनीओं का इस्तेमाल हमेशा गीर क़ानूनी कामों के लिए ही  किया जाता है. नीरव मोदी ने कांग्रेस से मिलकर यह मिल्ली भगत की है. मोदीजी ने बैंक के ऑडिट करवाए तोह यह घोटाले सामने आये. जानकारी आ रही है की इस घोटाले के लिंक अब आम आदमी पार्टी से जुड़ रहे है. २०१०-२०१४ में पंजाब नेशनल बैंक और कैनरा बैंक ने एक बेनामी कंपनी को ५ अरब ८६ करोड़ ५  लाख रुपए का लोन दिया. इस कंपनी के डायरेक्टर हेम प्रकाश शर्मा है. यह हेम प्रकाश शर्मा वाही है जिसने विधान सभा के चुनाव से पहेले आम आदमी पार्टी को हवाले के ज़रिये २ करोड़ रुपए काले धन को चंदे के तौर दिए थे.

जो कोई भी  नेता, मंत्री जो कांग्रेस और आम आदमी पार्टी से है वह मोदीजी पर लांचन लगा रहे है. लेकिन उन्ही लोगो के नाम पी.एन.बी. घोटाले में सामने आ रहे है. इन सभी लोगो की लिंक इस घोटाले से जुडी है. कांग्रेस के नेता काबिल सिबाल जो राम मंदिर के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में  केस लड़ रहे है उन्होंने भी काफी कीचड़ उछाला है.  कित्नु उन्ही का नाम अब इस घोटाले से जुड़ गया है. डाटा साइंटिस्ट गौरव प्रधान का कहना है की ” एमार एम जि एफ में काबिल सिबल को घर खरीदने के लिए पैसे दिए थे. इस घर की किम्मत करीब २०० करोड़ रुपए तक है. और यह बेनामी संपत्ति है.” इस घर में रहते है ऐसा दिखाने के लिए काबिल सिबल एमार एम जि एफ को हर महीने १५ लाख का किराया भी देते थे.

कित्नु वो पैसे एम जि एफ उनको दे देते थे. रोबर्ट वाड्रा के साथ भी है काबिल सिबल के सम्बन्ध. जब एमार को रोबर्ट वाड्रा और काबिल सिबल के सम्बंदो का तब एमार ने एम जि एफ पार्टनरशिप भी तोड़ दी. एम जि एफ  कनिष्क सिंघ की कंपनी है जो प्रियंका गाँधी के साथ काम कर रही है. गौरव पधान ने सवाल किया है की राहुल गाँधी ने अपने लन्दन और बंगकोक के दौरे पर नीरव मोदी से मुलाकात क्यों की थी? इस यात्रा पर दोनों के बीच क्या समझौता हुआ? ऐसे कई प्रश्न गौरव प्रधान ने उठाये है. राहुल गाँधी ने एस पी जि को भी साथ नहीं रखा था इस दौरे पर ताकि कोई रिकॉर्ड न रहे. सीबीआई ने कड़ी कारवाही के बाद सारे साबुत इकठा किये है. इस घोटाले से कांग्रेस का सफाया हो सकता है.