Home देश अचानक ही विदेशी नागरिकों को पर ट्रम्प ने लिया ये बड़ा एक्शन,पूरी...

अचानक ही विदेशी नागरिकों को पर ट्रम्प ने लिया ये बड़ा एक्शन,पूरी दुनिया हुई हैरान

SHARE

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प हमेशा से ही अमेरिका की सीमाओं को सुरक्षित बनाने पर जोर देते नजर आए है. जब से वे अमेरिका के राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए उतारे है उन्होंने हमेशा से ही अपने देश में आनेवाले विदेशी नागरिकों पर हथोडा चलाने की बात करते आये है.

अमेरिकी राष्टपति डोनाल्ड ट्रम्प का यह मानना है की उनके देश में आने वाले विदेशी लोगों की वजह से ही यहाँ की ज्यादातर समस्याओं की जड़ है. वे मानते है की यदि अमेरिका सिर्फ गिने चुने लोगों को ही देश में आने की अनुमति दे तो यहाँ की समस्याओ पर काबू पाया जा सकता है. राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा है कि वह अमेरिका में अवैध घुसपैठ को रोकने के लिए देश की सीमाओं को और सुरक्षित बनाएंगे. वह चाहते हैं कि अमेरिका में केवल योग्यता वाले लोग ही आएं. ट्रंप ने यह बयान अमेरिका की आव्रजन नीति को लेकर ताजा पहल के दौरान दिया है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि अमेरिका में लोग मेरिट पर या वैध तरीके से आएं. हम ऐसे लोग नहीं चाहते, जिन्हें उनका देश ही कचरा मानता हो.

अमरीका के राष्ट्रपति ट्रंप ने अमरीका की अंतर्राष्ट्रीय सीमा को सुरक्षित रखने और गैर कानूनी तरीके से लोगों के प्रवेश को रोकने का प्रण करते हुए कहा कि वह चाहते हैं कि सिर्फ योग्य लोग ही देश में आएं. ट्रंप ने कड़ी आलोचनाओं के बीच इस सप्ताह की शुरुआत में आव्रजक परिवार को बच्चों से अलग करने की विवादस्पद नीति को वापस ले लिया. डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका की अंतरराष्ट्रीय सीमा को सुरक्षित रखने और गैरकानूनी तरीके से लोगों के प्रवेश को रोकने का प्रण लिया है. उन्होंने शनिवार को कहा कि वह चाहते हैं कि सिर्फ योग्य लोग ही उनके देश में आएं. ट्रंप ने देश में अवैध तरीके से रहने वालों द्वारा मारे गए लोगों के परिवारों से भी एक कार्यक्रम के दौरान वाइट हाउस में मुलाक़ात की.

देश में अवैध तरीके से रहने वालों द्वारा मारे गए लोगों के परिवारों से बात करते हुए इस कार्यक्रम के दौरान राष्ट्रपति ट्रम्प ने जोर देते हुए कहा कि उनकी सरकार का पहला कर्तव्य और बड़ी वफादारी अमेरिका के लोगों के प्रति है. यहां के नागरिकों की देश में और सीमा पर सुरक्षा सुनिश्चित करने में है. ट्रम्प ने अवैध शरणार्थी परिवारों से उनके बच्चों को अलग करने का फैसला किया था. लेकिन इस फैसले के विरोध में बहुत सुर उठने लगे थे. खुद ट्रम्प की पत्नी मेलानिया ही उनके विरोध में थीं, वहीं सांसद भी इसके विरोध में थे, जिसके बाद ट्रम्प को यह फैसला वापस लेना पड़ा. उनका यह फैसला दुनियाभर में काफी चर्चा का विषय बना साथी ही ट्रम्प को कड़ी आलोचना का भी सामना करना पड़ा.

ट्रंप ने कड़ी आलोचनाओं के बीच इस सप्ताह की शुरुआत में आव्रजक परिवार को बच्चों से अलग करने की विवादास्पद नीति को वापस ले लिया. “एंजल फैमिली” के नाम से पहचाने जाने वाले इन परिवारों को ट्रंप ने कहा कि हम चाहते हैं कि हमारे देश में योग्य लोग आएं, न कि ऐसे लोग जिन्हें अन्य देश कचरे के डिब्बे में डाल देते हैं और यहां भेजते रहते हैं. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने देश की सीमाओं को सुरक्षित करने में लगे हुए हैं और अवैध रूप से अमेरिका में प्रवेश कर रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें हिरासत में लिया जा रहा है. अमेरिका में इन दिनों इमिग्रेंट्स संकट को लेकर सबसे ज्यादा चर्चा हो रही है. और इस बीच ट्रंप ने कहा कि वे चाहते हैं कि मेरिट के आधार पर ही लोगों को अमेरिका में आने दिया जाए.

ट्रंप के अनुसार, जो योग्य लोग होंगे, उन्हें ही अमेरिका में आने दिया जाएगा. ट्रंप प्रशासन को इन दिनों उनके जीरो टॉलरेंस इमिग्रेंट्स पॉलिसी के खिलाफ दुनियाभर से आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है. इस पॉलिसी के मुताबिक, अमेरिकी सीमा में अवैध रूप से प्रवेश कर रहे लोगों को खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनके बच्चों से उन्हें अलग किया जा रहा है. ट्रम्प ने साल २०११ की एक सरकारी रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा, “गिरफ्तार किए गए अपराधियों में 25 हजार पर हत्याओं, 42 हजार पर लूट, लगभग 70 हजार पर यौन अपराधों और 15 हजार पर अपहरण के मामले हैं. अकेले टेक्सास में पिछले 7 साल में 2.5 लाख लोग गिरफ्तार किए गए. 6 लाख लोगों के खिलाफ आपराधिक मुकदमे लिखे गए. 2016 में 15 हजार अमेरिकी ड्रग्स की ओवर डोज से मारे गए. 90 फीसदी से ज्यादा ड्रग्स दक्षिण बॉर्डर पार से आती है.”