Home देश अब इस वजह के कारन आतंकियों को मारी जाएँगी सूअर के खून...

अब इस वजह के कारन आतंकियों को मारी जाएँगी सूअर के खून से सनी गोली

SHARE

आतंक का कोई मजहब नहीं होता. कित्नु सभी का मानना एक ही है की मुसलमान लोग ही आतंकवाद होते है. यूँ तोह इनका कोई महजब नहीं होता पर मरने के बाद सभी जग जाते है.

आतंकवाद को लेकर एक लम्बी बहेस काफी सालों से चल रही है. कुछ लोग धर्म के नाम से आतंक फैलाते है और कुछ लोग आतंक को ही धर्म बना लेते है. टॉमी रोबिनसन एक मशहूर कार्यकर्त्ता है. यह आतंक के खिलाफ कई सालों से है. इन्होने काफी लिखा भी है आतंक के बारेमे. इन्होने आतंक के खिलाफ डट कर सामना किया है. टॉमी रोबिनसन ने यूरोप में हुए हमले के बारेमे भी बोला है. यह हमला यूरोप में स्पेन के बार्सिलोना में हुआ. इस हमले में १३ लोगो को इस्लामिक नाम के धर्म से मारा गया. इस इस्लामिक अटैक की वजहसे आतंकवाद को लेकर पुरे देश में काफी बहेस हुई. इस विषय ने सबको आकर्षित कर लिया. यह आतंकवादी पश्चिमी देशों के मुस्लिम लोग थे. जिन्होंने यह हमला किया वैह इस्लाम आतंक  को लोगो दिलों में देखना चाहते थे इसीलिए उन्होंने एक ट्रक एक्सीडेंट करवा दिया जहा १३ लोगो की मौत हो गयी.

इस घटना के बाद कुछ लोग खुलकर बोलने लगे और अपने विचारों को पेश किया कित्नु कुछ लोग ऐसे भी थे जहा इन आतंकवादियों को बचाने  में जुट गए.इस पर तोम्मी रोबिनसन ने ट्वीट करते हुए कहा “जिहादियों का कोई  मानव अधिकार नहीं होता. उनकी लाशो को सुवर के साथ दफ़न करना चाहिए. अगर आतंकवादी जिंदा पकडे जाएँ तोह उनको सुवर का मांस खिलाना चाहिए.” यह रोबिनसन ने जनबुचकर किया है क्योंकि मुस्लिम सुवर से बहुत नफरत करते है. मुस्लिम लोग सुवर नहीं खाते.  माना जाता है की अगर कोई मुस्लिम सुवर को छु भी ले तोह उसको जन्नत नसीब नहीं होगी. रोबिनसन का कहना है की  आतंकियों का कोई मजहब नहीं होता तोह क्या फरक पड़ता है अगर उन्हें सुवर के दफन किया जाये या सुवर खिलाया जाये. इस पर डोनल्ड ट्रम्प ने साथ देते हुए कहा ” इन्हें सुवर के खून में डूबी हुई गोली मार देनी चाहिए.”