Home देश इस अरब देश में मचा मातम, इस बार राजकुमारी को लेकर सामने...

इस अरब देश में मचा मातम, इस बार राजकुमारी को लेकर सामने आया ये मामला

SHARE

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस सलमान ने सऊदी के लिए नए नीतियों का स्वागत किया है. जिससे सऊदी के युव़ा और महिलाओं को भी रूढ़िवादिता से हटकर नए युग में रहने का अवसर मिल रहा है .सऊदी में पहले ही इए नए नियमों के कारण सऊदी की दुनिया में हाहाकार मचाया है.इसके कारण क्राउन प्रिंस सलमान भी काफी लोकप्रिय रह चुके है.

अब सऊदी अरब में नए दौर आने का समय आ गया है.सऊदी में अब इस तस्वीर के बजे से हाहाकार मचा हुआ है.यह तस्वीर सऊदी के एक मशहूर मैगज़ीन के कवरपेज के माध्यम से सामने आयी है.यह तस्वीर सऊदी अरब के राजकुमारी की है जिससे देश में आक्रोश का माहोल हो चुका है.इस तस्वीर में राजकुमारी ड्राइविंग करती हुई नजर आ रही है.सऊदी अरब में हाल ही में ड्राइविंग की प्रतिबंध से आजादी मिली है.सऊदी अरब के स्त्रियों को मिले इस आजादी से नाखुश लोगों ने राजकुमारी के इस तस्वीर पर असहमति दर्शाई है.सोशल मीडिया के द्वारा लोगों ने इस तस्वीर पर बयानबाजी करना शुरू किया है.राजकुमारी की इस तस्वीर पर असहमति दर्शाने में कई सारी महिलाएं भी शामिल है.सोशल मीडिया पर लोगों और कई सारी महिलाओं ने इसे देशद्रोही भी कहा है.

सोशल मीडिया पर रिएक्शन देते हुए कई सारे महिलाओने कवर पर छपी राजकुमारी हायफा-अब्दुल्लाह अल-सौद की चेहरे पर अरैस्टएक्टिविस्ट की तस्वीर लगाईं है.ये तस्वीर सोशल मीडिया पर ज्यादा तेजी से वायरल होने लगी है.इस मैगज़ीन में सऊदी के प्रिंस के स्त्रियों की आजादी के नए विचारों को प्राथमिकता दी है.तस्वीर में देखा जा सकता है राजकुमारी के हाथ में लेदर की दस्ताने है और पैर में हाई हिल्स के साथ ड्राइविंग सीट पर बैठी हुई है.इस मैगज़ीन के तस्वीर पर राजकुमारी हायफ़ा ने अपना बयान दिया है.राजकुमारी हायफ़ा का कहना है की कुछ रुढ़िवादी लोग है जो परिवर्तन से डरते है.राजकुमारी के मुताबिक़ इस आजादी का वो पूरी तरह से समर्थन करती है.सऊदी अरब में अब महिलाओं को आजादी का पूरा हक्क है.राजकुमारी का कहना है की यह आजादी का इस्तेमाल भी उन्हें करना चाहिए.

सऊदी अरब में महिलाओं को अब एक नयी आजादी भी मिली है.बीते गुरुवार को इसका ऐलान किया गया.जिसके तहत अब महिलाए भी अपना बिज़नस शुरू कर सकती है.अब बिज़नस खोलने की आजादी भी उन्हें दे दी.इससे पहले किसी पुरुष रिश्तेदार के बिना बिज़नस करना महिलाओं को अधिकार नहीं था.सऊदी अरब में कई वर्षों से महिलाओं को अधिकार न के बराबर थे.लेकिन अब पिछले कुछ महीनो से महिलाओं के लिए एक के बाद एक अधिकार मिलते जा रहे है.सऊदी अरब के वाणिज्‍य एवं निवेश मंत्रालय की वेबसाइट पर महिलाओं को बिज़नस के बारे में सभी सूचनाओं का जिक्र किया है.वेबसाइट पर डी गई जानकारी के मुताबिक़ अब महिला किसी भी तरह के बिज़नस की शुरुवात कर सकती है.साथ ही सऊदी अरब महिलाओं को बिज़नस शुरू करने के लिए सरकार भी मदद करेगा.

इससे पहले महिलाओं को बिज़नस शुरू करने के लिए गार्जियन सिस्टम के तहत जाना पड़ता था.मतलब अगर बुसिनेस शुरू करना हो तो उसके लिए पिता, भाई या पति की मंजूरी लेनी पडती थी.सऊदी अरब के प्रिंस ने इससे भी पहले महिलाओं के पुराने नियमों में बदलाव किये है.पहले ही महिलाओं के लाइसेंस पर लगे प्रतिबन्ध को हटाया.सऊदी अरब की महिलाओं को अब स्टेडियम में जाकर खेल देखने की भी इजाजत मिल गयी है.अधिकारियों ने बताया की कुछ अगले साल से ऐसा हो पाएगा.सऊदी अरब के तिन शहरों में रियाद, जेद्दा और दम्माम में लोग अपने परिवार के साथ दाखिल हो सकेंगे.सऊदी अरब की महिलाओं को आजादी मिलने की तरफ ये बड़े कदम उठाये जा रहे है.लेकिन आज भी सऊदी अरब के महिलाओं के जीने के तौर तरीकों को लेकर कड़े नियम लागू है.

सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस नयी रफ़्तार देने की तरफ अपना कदम बढ़ा रहे है.अब अल्जीरियाई इंजिनियर ने एक वेबसाइट बनाई है जिसके कारण अब सऊदी अरब के महिलाओं को नौकरी की तलाश करना आसान रहेगा.तेल पर से निर्भरता कम करने के लिए अब व्यवसाय बढाकर आर्थिक व्यवस्था से सुधार किया जा रहा है.इसीलिए सउदी ने किये २०३० के विज़न अनुसार महिलाओं की हिस्सेदारी को २०३० तक २० से ३० प्रतिशत तक बढ़ने का लक्ष्य है.सऊदी अरब की महिला होटल और खुराद की क्षेत्र में भी काम कर सकती है.इसी साल अरब स्टॉक एक्सचेंज में सारा अल सुहैमी को अध्यक्ष किया है.महिलायें भी अब मिले नए अधिकारों का फायदा उठा रही है.सऊदी अधिकारी भी महिलाओं के लिए नया अवसर खोल रही है साथ ही महिलाएं भी इसमें दिलचस्पी दिखा रही है.

हलाकि मिले रिपोर्ट के मुताबिक सऊदी अरब में १४० पोस्ट के लिए १ लाख से ज्यदा आवेदन भी आये है.इसके कारण समझ आता है की महिलाएं भी रोजगार को लेकर जागरूक है.रियाद चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री के अनुसार इनके क्षेत्र में 38.5% महिलाएं काम करती है.सऊदी अरब राजधानी रियाद में लगभग ७२ % महिलाये तैनात है.सऊदी अरब के महिलाओं को कुक पिछले महीनो से ड्राइविंग की परमिशन मिली है.अभी उनको लाइसन मिलना शुरू हो गया.सऊदी में अब सिनेमाघर खुले हुए है.सऊदी अरब अब १५ देशों में ४० तक सिनेमाघर खोलना चाहता है.सऊदी अरब में महिलाओं को अब वोट करने का अधिकार मिला है.अब महिलाएं २४ जून से ड्राइविंग कर सकेंगी.महिलाओं को ड्राइविंग की अनुमति देना विज़न २०३० का हिस्सा है.सऊदी अरब में अब दुनिया के बाकी महिलाओं के तरह आजादी का दौर शुरू हुआ है.