Home देश इस मुस्लिम देश फिर एक बार हुआ बड़ा बम हमला, सदमे में...

इस मुस्लिम देश फिर एक बार हुआ बड़ा बम हमला, सदमे में सारी दुनिया

SHARE

इरान में इस्लामिक स्टेट लगातार हमले की साजिश कर रहा है.इराकी सेना भी जवाबी हमले में इस्लामिक स्टेट पर आक्रमण कर रही है.इस्लामिक स्टेट का पूरा सफाया करने के लिए हवाई हमले भी कर चुकी है.लेकिन इस्लामिक स्टेट की और से किये जा रहे हमलों में भी कई सारे पुलिस कर्मी और साथ ही नागरिक मारे जाने की खबर आती है.

ईराक के उत्तर बग़दाद के पार्क में एक आत्मघाती हमला हुआ.इस हमले में कई पुलिसकर्मी मारे गए साथ ही कम से कम साथ लोगों कि जान भी चली गयी.रिपोर्ट के मुताबिक़ करीब १६ लोग घायल हुए.सुन्त्रो की ख़बरों से ये हमला उत्तरी बग़दाद के शिया बहुल जिले शोअला में हुआ.इस हमले में कई सारे लोगों की मौत के साथ साथ पुलिसकर्मी भी मारे गए और १६ लोग बुरी तरह से घायल हुए.इराकी सुरक्षिया तथा वहा के कर्मचारियों ने हमलावर को पार्क में घुसने से पहले रोकने की कोशिश की लेकिन उसने पहले ही बम उडा देने के कारण वहा विस्फोट कर उसने खुद को भी उडा दिया.बग़दाद १७ मई को रमजान शुरू होने से ये पहला हमला है.अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं किया.साथ ही किसी ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली.

इरान के अंबार प्रान्त के पश्चिम शहर में भी आत्मघाती हमला हुआ.इस हमले में करीब ११ लोगों की मौत हो गयी.इराकी अधिकारियों ने इस हमले की जानकारी दी.कैफे में आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट कर खुद को भी उडा दिया.इस विस्फोट में करीब १५ लोग घायल हुए.अन्य सभी पीड़ित नागरिक है.इराकी अधीकारियोने बताया की आपात कालीन सेवाए और सुरक्षा बल वहा मौजूद हुए.इराकी सुरक्षा बल पश्चिमी हिस्से के इस्लामिक स्टेट उग्रवादियों से लड़ रहे हैं. इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल-अबादी ने इस साल आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) की पुरे खात्मे की उम्मीद जताई थी.समाचार एजेंसी के रिपोर्ट के मुताबिक़ आबादी ने एक सवांददाता कार्यक्रम में इराक के सुरक्षा बलों की जीत और मिश्रित जाति वाले किरकुक प्रांत के हवीजा में किये गए अभियान की तारीफ़ की.

इरान के अंबार प्रान्त के पश्चिम शहर में भी आत्मघाती हमला हुआ.इस हमले में करीब ११ लोगों की मौत हो गयी.इराकी अधिकारियों ने इस हमले की जानकारी दी.कैफे में आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट कर खुद को भी उडा दिया.इस विस्फोट में करीब १५ लोग घायल हुए.अन्य सभी पीड़ित नागरिक है.इराकी अधीकारियोने बताया की आपात कालीन सेवाए और सुरक्षा बल वहा मौजूद हुए.इराकी सुरक्षा बल पश्चिमी हिस्से के इस्लामिक स्टेट उग्रवादियों से लड़ रहे हैं. इराक के प्रधानमंत्री हैदर अल-अबादी ने इस साल आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) की पुरे खात्मे की उम्मीद जताई थी. सेना के कई कोशिशों के बाद आईएस आज भी है. समाचार एजेंसी के रिपोर्ट के मुताबिक़ आबादी ने एक सवांददाता कार्यक्रम में इराक के सुरक्षा बलों की जीत और मिश्रित जाति वाले किरकुक प्रांत के हवीजा में किये गए अभियान की तारीफ़ की.

इराकी अधिकारी ने कहा की रमजान के महीने में रोजा खोलने के बाद नमाज के लिए एकत्र होने पर हुआ.पुलिसे और अस्पताल की अधिकारियों ने अपना नाम गोपनीय रखकर मृतक संक्या की पुष्टि की.क्योंकि उने यह जानकारी जारी करने की अनुमति नहीं है.इस हमले की किसीने जिम्मेदारी नहीं ली लेकिन ये हमला पूर्व इस्लामिक स्टेट के हमले से नहीं मिलता.इराकी बालों ने रविवार को बताया की फलूजा आईएस के कब्जे से पूरी तरह मुक्त है.शहर पर पूरी तरह से कब्जे में करने का अभियान पिछले महीने से शुरू किया था.आईएस ज्यादातर शिया नागरिक और और सुरक्षा बालों के ढांचे को निशाना बनती है .इरान की राजधानी बगदादी में दक्षिन में कार का विस्फोट हुआ.जिसमे ५० से अधिक लोगों की मौत हुई.इस्लामिक स्टेट की गतिविधियों का हवाला देनेवाली अमाक एजेंसी ने कहा की शियों लोगों की भीड़ ओ निशाना बनाया गया था.

इस कार बम विस्फोट की जिम्मेदारी आतंकी संघटन आईएसआईएस ने ली.सोशल मिडिया पर किये गए मोबाइल के फुटेज से शव और तबाही का मंजर दिखाई देता है.यह हमला करीब ४.१५ के आसपास हुआ.यह तिन दिनों के अन्दर का तीसरा हवाई हमला है.बगदाद ऑपरेशन के कमांड ने बताया की बाया में आतंकी कार बम विस्फोट हुआ.गृह मंत्रालय के अधिकारी ने कहा की ५२ लोग मर चुके है और करीब ५० लोग घायल हुए है.दक्षिण बग़दाद में पुलिस के नाके को निशाना बनाकर किये गए ट्रक हमले में १५ लोगों की मौत हुई और करीब ४५ लोग घायल हुए. ईराक के सुरक्षा और अस्पताल के अधिकारियोने बताया की विस्फोट से भरे एक तेल टैंकर के साथ हमलावार ने खुद को भी उड़ाया.अधिकारियोने बताया की मरनेवालों में तिन अधिकारी है और शेष नागरिक है.इसके अलावा कई पुलिस कर्मचारी भी घायल हुए.

हालाकि इस हमले की जिम्मेदारी किसी भी संघटन ने नहीं ली .लेकिन कहा जाता है की इराकी क्षेत्रों में पकड़ कम पड जाने पर इस्लामिक स्टेट इस तरह के हमले को अंजाम दे चुका है.इराकी सेना पश्चिम मोसुम में लड़ रहे हैं.इस्लामिक स्टेट ने इस इराकी बलों को जवाबी हमले को अंजाम देने के लिए २००० लड़ाकू तैनात किये है.इराक अधिकारियों ने फिर से अक्टूबर को काबू करने का अभियान शुरू किया था. इससे पहले पूर्वी मोसुल को स्पष्ट रूप से आजाद करवा लिया था.ये इलाका पश्चिम मोसुम से नदी के जरिये अलग होता है.पश्चम मोसुल में घनी आबादी रहती है.यहाँ बालों को इस्लामिक स्टेट के खिलाफ लड़ाई अधिक कठिन हुई.इराकी बल साथ ही गठबंधन सेना यहाँ के इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों का सफाया करने के लिए साथ ही नियंत्रण स्थापित करने के लिए तोफखानो और साथ ही हवाई हमलों की कोशिश कर रहा है.