Home देश उद्धव ठाकरे ने प्रणब दा के RSS में जाने को लेकर दिया...

उद्धव ठाकरे ने प्रणब दा के RSS में जाने को लेकर दिया ये हाहाकारी बयान, कांग्रेस के उड़े होश

SHARE

हाल ही में आरएसएस के कार्यक्रम में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का शामिल होने को लेकर मचा सियासी घमासान थमने का नाम नहीं ले रहा है. ऐसे में ये सवाल उठ रहे है की आरएसएस के कार्यक्रम में प्रणब मुखर्जी का शामिल होना उनके सक्रिय राजनीति में लौटने और संघ की तरफ से पीएम कैंडिडेट बनने की कोशिश थी.

प्रणब मुखर्जी के आरएसएस कार्यक्रम के उपस्थिति को लेकर कांग्रेस के बाद अब शिवसेना भी बाते कर रही है. इस बीच २०१९ में संघ की ओर से प्रणब मुखर्जी को पीएम उम्मीदवार बनाए जाने की संभावना से जुड़े शिवसेना के बयान पर प्रणब दा की बेटी ने पलटवार किया है. दरअसल पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की बेटी और कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुखर्जी ने शिवसेना के उस बयान को सिरे से खारिज किया है, जिसमें उसने कहा था कि अगर बीजेपी को २०१९ लोकसभा चुनाव में पूर्ण बहुमत नहीं मिला, तो प्रणव मुखर्जी का नाम पीएम पद के लिए आगे कर दिया जाएगा. शिवसेना के इस दावे और अफवाहों को बेटी शर्मिष्ठा मुखर्जी ने पुरजोर तरीके से विराम देने की कोशिश की है. शर्मिष्ठा का कहना है कि दिग्गज नेता अब कभी भी सक्रिया राजनीति में नहीं लौटेंगे.

जानकारी के मुताबिक़ बता दे की राउत ने कहा था, ”आरएसएस ने प्रणब बाबू को मार्गदर्शक और वक्ता के रूप में अपने कार्यक्रम में बुलाया. इसके पीछे उनके (आरएसएस) मन में राजनीतिक सोच हो सकती है. शायद २०१९ लोकसभा त्रिशंकु रहे और बीजेपी को बहुमत नहीं मिला. प्रधानमंत्री पद के लिए कोई साझा उम्मीदवार नहीं मिला तो शायद प्रणब बाबू का नाम नेशनल कैबिनेट के नेतृत्व के लिए आ सकता है. आरएसएस ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है.” उसके बाद अपने एक ट्वीट में शर्मिष्ठा ने लिखा है की, “मिस्टर राउत, भारत के राष्ट्रपति पद से रिटायर होने के बाद मेरे पिता दोबारा सक्रिय राजनीति में नहीं उतरेंगे.” शर्मिष्ठा मुखर्जी इस समय दिल्ली कांग्रेस की प्रवक्ता हैं. इससे पहले भी शर्मिष्ठा ने कहा था कि २०१२ में राष्ट्रपति बनने के बाद अब उनके पिता सक्रिय राजनीति में नहीं आएंगे. शर्मिष्ठा के ट्वीट ने उन कयासों पर लगाम लगा दी है जहां ये कहा जा रहा था कि प्रणब मुखर्जी अपने राजनीति फायदे के लिए आरएसएस की शाखा को संबोधित करने गए थे.