Home देश कर्णाटक चुनाव ख़त्म होते ही, कांग्रेस-JDS को लेकर सामने आया ये नया...

कर्णाटक चुनाव ख़त्म होते ही, कांग्रेस-JDS को लेकर सामने आया ये नया विवाद

SHARE

इस बात से अब सभी वाकिब है की लंबे सियासी उठापटक के बाद एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व में कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की सरकार बनने का रास्ता साफ हो गया है. बता दे की २३ मई को सूबे में शपथ ग्रहण समारोह होना है. लेकिन सूत्रों की माने इस गठबंधन में हालात कुछ ठीक नजर नहीं आ रहे है.

बताया जा रहा है की इस नए नवेले गठबंधन के बीच मंत्री पद को लेकर एक दूसरे पर दबाव डालने और मोल-तोल का सिलसिला भी जारी है. सरकार बनने से पहले ही गठबंधन में तू तू में में होना शुरू हो गया है. खबरों के अनुसार सियासी गलियारे में चल रही चर्चा के मुताबिक गठबंधन में बड़ी पार्टी कांग्रेस अपनी लीडरशिप पर ज्यादा मंत्री पदों के लिए दबाव डाल रही है. कांग्रेस की ओर से अभी और भी मांगें रखी जा सकती हैं. ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं. गठबंधन नेताओं में कैबिनेट की सूरत को लेकर स्थिति साफ नहीं हो पाने की वजह से २३ मई को शपथ ग्रहण में सभी मंत्री शपथ नहीं लेंगे. दोनों दलों के नेतृत्व ने पहले आठ मंत्रियों को शपथ दिलाने का फैसला लिया है. इनमें से चार-चार दोनों पार्टियों से होंगे. पूरे मंत्रालय की सूरत २९ मई को आकार लेगी यह जानकारी मिली है.

मंगलवार को हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में विधायकों ने कैबिनेट में ज्यादा से ज्यादा पद दिए जाने की मांग रखी और इस दौरान ये मांग भी उठी कि पांच साल के कार्यकाल के दूसरे ढाई साल कांग्रेस नेता को सीएम पद पर बैठने का मौका मिले यह जानकारी मिली है. बता दे की बैठक में शामिल नेताओं के मुताबिक जेडीएस को पता है कि वो कांग्रेस पर अपनी मांगें थोपने की स्थिति में नहीं हैं. वे पूरे पांच साल तक अपना सीएम बनाए रखें और कैबिनेट में भी उनका बड़ा हिस्सा हो, ऐसा संभव नहीं है. कांग्रेस नेताओं के मुताबिक चुनाव में अलग-अलग समुदाय के लोगों का भरोसा जीता है. बता दे की इसमें संतुलन बनाकर रखना पड़ेगा, वर्ना आने वाले दिनों में पार्टी को मुश्किलों का सामना करना होगा.