Home देश कश्मीर के जाकर PM मोदी ने दिया ये बड़ा बयान, महबूबा मुफ़्ती...

कश्मीर के जाकर PM मोदी ने दिया ये बड़ा बयान, महबूबा मुफ़्ती भी रह गयी हैरान

SHARE

दो दिन के दौरे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जम्मू-कश्मीर पहुंच गए हैं। यहां वह सबसे पहले लेह पहुंचे जहां उन्होंने १९वें कुशोक बकुला की १००वीं जयंती के समापन समारोह में शामिल हुए. पीएम ने एशिया की सबसे लंबी जोजिला सुरंग की आधारशिला रखी. पीएम मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में कृषि विकास की असीम संभावना है. साथ ही हेल्थकेयर क्षेत्र में मदद के लिए जम्मू-कश्मीर राज्य मुख्य भूमिका निभा सकता है.

यह सुरंग श्रीनगर, करगिल और लेह के बीच सभी मौसमों में संपर्क मुहैया कराएगी.जोजिला दर्रा श्रीनगर-करगिल-लेह राष्ट्रीय राजमार्ग पर ११,५७८ फुट की ऊंचाई पर स्थित है और सर्दियों में भारी हिमपात के कारण यह बंद हो जाता है जिससे लद्दाख क्षेत्र का कश्मीर से सड़क संपर्क टूट जाता है.इस परियोजना में १४.१५ किलोमीटर लंबी सुरंग बनाने का लक्ष्य है जिसमें दोनों तरफ से वाहनों की आवाजाही होगी.लेह में जोजिला सुरंग की आधारशिला रखने के बाद जनसभा में मोदी ने कहा कि कश्मीर घाटी तथा जम्मू क्षेत्र के लाेगों को लद्दाख से सीख लेनी चाहिए.सर्दी के छह से सात महीने में देश के अन्य हिस्सों से कटे रहने के बावजूद लद्दाख के लोग पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए हरसंभव प्रयास करते हैं. लद्दाख में हर साल दो लाख से ज्यादा पर्यटक आते हैं.

रणनीतिक तौर पर टू-लेन जोजिला सुरंग परियोजना सेना के लिए यह सुरंग काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है.१४.२ किमी लंबी इस सुरंग के निर्माण पर करीब ६८०० करोड़ की लागत आएगी. परियोजना को पूरा करने के लिए सात वर्ष का लक्ष्य तय किया गया है. इस सुरंग के बनने से श्रीनगर, कारगिल और लेह के बीच सभी मौसम में संपर्क बना रहेगा और जोजिला से गुजरने में लगने वाला वक्त ३.५ घंटे से घटकर सिर्फ १५ मिनट रह जाएगा. बता दें कि आमतौर पर सर्दियों के मौसम में बर्फबारी व हिमस्खलन के चलते श्रीनगर व लेह-लद्दाख के बीच की कनेक्टिविटी ज्यादातर समय के लिए बाधित रहती है.प्रधानमंत्री ने एक वचरुअल संग्रहालय बनाने की घोषणा की है जिसमें दुनिया को लदाख क्षेत्र का इतिहास और परंपरा दिखाई जाएगी.प्रधानमंत्री के ये यात्रा रमजान के पवित्र महीने के दौरान आतंकवादी संगथानो के खिलाफ अभियानों को रद्द करने की केंद्र की घोषणा हो रही है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘पूरे जम्मू-कश्मीर राज्य में कृषि विकास के लिए अपार संभावनाएं हैं. बात जब संपूर्ण स्वास्थ्य के क्षेत्र में मदद करने की हो तो यह राज्य एक अहम भूमिका अदा कर सकता है.’ श्रीनगर से ४५० किलोमीटर उत्तर में स्थित लेह में मोदी इससे पहले १२ अगस्त २०१४ को आए थे और तब उन्होंने एक जल विद्युत परियोजना का शुभारंभ किया था.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने श्रीनगर के किशनगंगा हाइड्रोपावर स्टेशन को देश को समर्पित किया. इस मौके पर राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती भी मौजूद रही.जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘हमारी सरकार इकोसिस्टम के लिए काम कर रही है, जो पर्यटन के विकास के लिए आवश्यक है.मजबूत इकोसिस्टम से जम्मू-कश्मीर में पर्यटकों की संख्या बढ़ेगी. इससे प्रदेश के युवाओं को रोजगार के नए अवसर मिलेंगे.