Home देश कश्मीर में PM मोदी ने कर दिया ये सबसे बड़ा कारनामा, सारी...

कश्मीर में PM मोदी ने कर दिया ये सबसे बड़ा कारनामा, सारी दुनिया हैरान

SHARE

हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी शनिवार से दो दिवसीय जम्मू-कश्मीर के दौरे पर गए हुए है. बता दे की इस दौरान वे कारगिल जिले में बनने वाली एशिया की सबसे बड़ी जोजिला सुरंग का शिलान्यास करेंगे सूत्रों से यह जानकारी प्राप्त हुई है. बताया जा रहा है की सुरंग बनने पर कई समस्या दूर हो जाएगी.

बता दे की जोजिला सुरंग को बनाने के लिए भारतीय सेना ने सबसे पहले साल १९९७ में सर्वे किया था. १९९९ के करगिल युद्ध के बाद इसकी योजना को अमलीजामा पहनाने की तैयारी शुरू की गई. खबरों के अनुसार सुरंग बन जाने से श्रीनगर-कारगिल-लेह के बीच १२ महीने सड़क संपर्क बनाए रखने में मदद मिलेगी. जानकारी के मुताबिक़ १४.२ किलोमीटर लंबी सुरंग के बनने पर जोजिला से गुजरने पर लगने वाला समय ३.५ घंटों से घटकर वो सिर्फ १५ मिनट हो जाएगा. ऐसे में ये सुरंग रणनीतिक रूप से भी काफी अहम हो जाती है ऐसा सूत्रों का मानना है. सर्दियों के मौसम में भारी बर्फबारी के कारण कारगिल पोस्ट तक सप्लाई पहुंचाना मुश्किल हो जाता है, सुरंग बनने पर ये समस्या दूर हो जाएगी यह बताया जा रहा है.

सूत्रों की माने जोजिला सुरंग के बारे में खास बात यह है की यह सुरंग एशिया की सबसे लंबी टू-वे टनल होगी और सुरंग मौजूदा हाईवे से लगभग ४०० मीटर नीचे बनाई जाएगी. सूत्रों से यह जानकारी मिली है की १४.२ किमी लंबी इस सुरंग की लागत करीब ६,८०९ करोड़ रुपए होगी. बता दे की ये सुरंग वेंटिलेशन, विद्युत आपूर्ति, इमरजेंसी लाइटिंग, सीसीटीवी, ट्रैफिक लॉगिंग इक्विपमेंट, टनल रेडियो सिस्टम जैसे कई लेटेस्ट और हाईटेक फीचर्स से लैस होगी. जानकारी के मुताबिक़ इस सुरंग में पैदल राहगीरों के लिए भी खास व्यवस्था की जाएगी. उनके लिए २५० मीटर में रोड क्रॉस करने की व्यवस्था होगी और सुरंग को सुरक्षित बनाने के लिए हर १२५ मीटर पर एक इमरजेंसी टेलीफोन और फायर फाइटिंग केबिन भी होगा. खबरों के अनुसार टनल को साल २०२६ तक तैयार करने की योजना है.

इस सुरंग का निर्माण कार्य जिस इलाके में किया जाएगा वह समुद्र तल से ११,५७८ फीट की ऊंचाई पर स्थित है यह भी जानकारी सामने आई है. सूत्रों की माने सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी के मुताबिक जोजिला टनल एशिया की सबसे लंबी दो रास्ते की टनल होगी. बता दे की जोजिला सुरंग के निर्माण कार्य के दौरान व इसके बन जाने के बाद लद्दाख क्षेत्र में रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे. साथ ही पर्यटन भी बढ़ेगा यह माना जा रहा है. फिलहाल यहां ज्यादातर पर्यटक प्लेन के जरिए ही पहुंचते हैं. इसका आंकड़ा सर्दियों में काफी कम हो जाने की संभवता जताई गई है. ऐसे में यह प्रॉजेक्ट इंजिनियरिंग का भी एक बेहतर नमूना होगा और ये सुरंग इस समस्या को भी दूर कर देगी इस में कोई आशंका नहीं है.