Home देश चिदंबरम के बयान के बाद आप नेता फुल्का ने दी ये चेतावनी,...

चिदंबरम के बयान के बाद आप नेता फुल्का ने दी ये चेतावनी, केजरीवाल परेशान

SHARE

वरिष्ठ आप नेता और दाखा से विधायक एच एस फुल्का ने कहा कि अगर उनकी पार्टी कांग्रेस के साथ हाथ मिलाती है तो वह ‘आप’ को छोड़ देंगे. उन्होंने स्पष्ट किया कि कांग्रेस के साथ किसी भी प्रकार का समझौता १९८४ के सिख विरोधी दंगों के कथित अपराधियों को क्लीन चिट देने जैसा होगा.

फुल्का ने कहा, अगर वह कांग्रेस पार्टी के साथ प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष तरीके से हाथ मिलाती है तो मैं पहला व्यक्ति होऊंगा जो आम आदमी पार्टी छोड़ेगा.रविवार को दिल्ली में कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में अन्य विपक्षी दलों के साथ व्यापक आधार पर गठबंधन की जरूरत पर कांग्रेस नेता पी चिदंबरम के विचार का पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह द्वारा समर्थन के बाद यह बयान आया है. वरिष्ठ अधिवक्ता फुल्का कोर्ट में दंगा पीड़ितों की ओर से पक्ष रखते हैं.

उनका आरोप है कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद कई स्थानों पर हुए दंगों के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है. उन्होंने कहा कि दंगा पीड़ितों के मामलों में वह लड़ते रहेंगे.फुल्का एक वकील हैं जो अदालत में दंगा पीड़ितों की तरफ से पक्ष रखते हैं. उनका आरोप है कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद कई स्थानों पर हुए दंगों के लिए कांग्रेस जिम्मेदार है.

पंजाब विधानसभा में विपक्ष के पूर्व नेता ने कहा कि वह दंगा पीड़ितों के मामलों से लड़ना जारी रखेंगे. दंगों में कुल ३३२५ लोग मारे गए थे।बता दें कि पंजाब में आम आदमी पार्टी मुख्य विपक्षी दल है. लेकिन इन दिनों कुछ नेता प्रदेश में पार्टी पर दमखम दिखाने के चक्कर में एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप भी लगाने में जुटे हैं. हाल ही में वरिष्ठ नेता सुखपाल सिंह खैरा ने प्रदेश सह अध्यक्ष बलबीर सिंह पर उन्हें विधानसभा में विपक्ष के नेता पद से हटाने की साजिश रचने का आरोप लगाया था.

१९८४ के सिख दंगों के कांग्रेस “अपराधी” को बुलाते हुए फुल्का ने कहा कि पूर्व के साथ कोई गठबंधन उन्हें मामले में क्लीन चिट दे रहा है. फूलका ने यहां कहा, “मैं आम आदमी पार्टी छोड़ने वाला पहला व्यक्ति होगा, जब वह सीधे या अप्रत्यक्ष तरीके से कांग्रेस (या तो) के साथ हाथ मिलाता है.