Home देश दिल्ली यूनिवर्सिटी के चुनाव में अखिल भारतीय विद्या परिषद् को मिली जीत

दिल्ली यूनिवर्सिटी के चुनाव में अखिल भारतीय विद्या परिषद् को मिली जीत

SHARE

गुरुवार को दिल्ली यूनिवर्सिटी के चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद राहुल और केजरीवाल के होश जरुरु उड़े होंगे।इन नतीजों से विधानसभा चुनावों का भी अंदाजा लगाया जा सकता है.चुनावों के नतीजों में अध्यक्ष पद पर पर कुल तीन सीटों पर अखिल भारतीय विद्या परिषद् ने जीत दर्ज की है.

चुनाव में एक पद NSUI को भी मिला है.ABVP के इस जीत को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने भी बधाई दी है.अमित शाह ने बधाई देते हुए कहा की ABVP की यहजीत राष्ट्रवादी विचारधारा के विश्वास की जीत है.साथ ही अमित शाह ने कहा की यह विभाजनकारी और अवसरवादी राजनीति के खिलाफ की जीत है.

दिल्ली युनिवेर्सिटी के चुनाव के घोषणा के तुरंत बाद अमित शाह ने ट्वीट कर बधाई दी.कहा की डूसू चुनाव में जीत मिले सभी कार्यकर्ताओं को हार्दिक बधाई।यह केवल राष्ट्रवादी विचारधारा में युवाओं की विश्वास की जीत नहीं बल्कि जनादेश विभाजनकारी और अवसरवादी राजनीति के खिलाफ की जीत है. अध्यक्ष्य पद पर ABVP के उम्मीदवार अंकिव बसोया की जीत हुई है.उपाध्यक्ष और संयुक्त सचिव के पद पर भी ABVP के उम्मीदवारों की जीत हुई है.इसमें आप पार्टी के छात्र संघटन का कोई उम्मीदवार नहीं जीता है.

चुनाव में NSUI के खाते में सचिव पद की जीत हुई है.डूसू के उपाध्यक्ष पद पर ABVP  से शक्ति सिंह और सयुंक्त सचिव् पद पर ज्योति चौधरी ने दर्ज की है.इस हार के बाद NSUI  और ईवीएम से लेकर बवाल खड़ा शुरू किया है.NSUI  का कहना है की अध्यक्ष और सचिव पद पर हमारी ही जीत थी.फ़िरोज़ खान का खाना है की चारों सीट पर वही जीतनेवाले है.

लेकिन  गड़बड़ी की है.चुनाव आयोग ने भी इसका जवाब दिया है.चुनाव आयोग ने साफ़ कह दिया है की डूसू चुनाव के लिए आयोग की कोई मशीने नहीं दी गई थी.लेकिन सोशल मीडिया पर लोगों ने भी प्रतिक्रिया देनी शुरू की है.लोगों का मानना है की कांग्रेस और उसके छात्रों की यह कोई नयी बात नहीं है.अगर जीत मिली होती तो ऐसा नहीं लेकिन हर मिलने के बाद ईवीएम मशीन का दोष है.