Home देश तेलों के दाम हमेशा के लिए होंगे काम

तेलों के दाम हमेशा के लिए होंगे काम

SHARE

कुछ दिन पहले डॉलर के मुकाबले गिरते रुपये के कारन कच्चे तेल और पेट्रोल,डीजल ने कीमतों ने आसमान छू लिया था.पेट्रोल दिसेल की कीमतों ने तो रिकॉर्ड हाई किया था.डॉलर के कारण कंपनियां लगातार पेट्रोल डीज़ल के दामों में इजाफा कर रही थी.पहली बार दिल्ली में पेट्रोल के दामों ने ८० का आकड़ा पार कर लिया है.

विरोधी दल की एक्साइज ड्यूटी के कटौती से टैक्स हटाने तक की ,मांग हो रही है.सरकार पेट्रोल और डीजल के पेट्रोल की कीमतों पर भी चिंतित है.लेकिन एक्साइसे ड्यूटी और टैक्स काम करने से बड़ा नुकसान झेलना पडेगा।इसके कारन मोदी सरकार ने अब बड़ा फैसला लेने का सोचा है.मोदी सरकार पेट्रोल डीजल के कीमतों को कम करने की कोशिश में है.मोदी सरकार पेट्रोल डीजल के दामों पर लॉन्ग टर्म सलूशन ढूंढ रहा है.खबर के मुताबिक़ मोदी ने इसके  सुझाव दिया है.

अगर सभी तेल कम्पनिया इसे अपनाएगी तो तेल की बढ़त को रोका जा सकता है.सरकार तेल उत्पादक कंपनी शायद ओएनजीसी पर टैक्स लगाने की सोच रही है जिससे तेलों की दामों में कटौती संभव है.सीनियर एनालिस्ट अरुण केजरीवाल के मुताबिक़,विंडफॉल टैक्स भारतीय तेल उत्पादक कंपनियों के लिए कच्चे तेल के लिए कीमत ७० डॉलर प्रति डॉलर तक रोकी जा सकती है.

कम्पनिया यह योजना अमल में लाएगी तो भारतीय आयल फिल्ड से तेल निकाला जा सकता है.यह तेल आंतरराष्ट्रीय दरों पर बेचनेवाली तेल उत्पादक कम्पनिया अगर ७० डॉलर प्रति बैरल से ज्यादा पेट्रोल बेचती है तो उन्हें आमदनी का कुछ हिस्सा सरकार को देना होगा।फिर पेट्रोल की कीमते काबू में आ सकती है.विंडफॉल नाम का एक विशेष तेल टैक्स लगाया जाता है जिसका फायदा रिटेलर्स को दिया जाता है.

विंडफॉल टैक्स दुनिया के कुछ विकसित देशों में प्रभावी है.मोदी सरकार विंडफॉल टैक्स को तेजी से बढ़नेवाली कीमतों को  कम करने के रूप में देख रही है.तेल कंपनियों पर टैक्स और एक्साइज ड्यूटी में कटौती के साथ राज्यों में वैट और सेल्स टैक्स में भी कटौती करने की संभावना है.इससे लोगों को पेट्रोल की कीमतों की परेशानी से राहत मिल सकती है.

वीडियो:कांग्रेसियों के सामने राहुल गांधी की सबसे बड़ी बेइजती देखिये

कांग्रेसियों के सामने राहुल गांधी की सबसे बड़ी बेइजती देखिये

Posted by NAMO TV on Wednesday, August 15, 2018