Home देश दिग्विजय सिंह ने पाक के समर्थन में किया ये बड़ा ट्वीट,...

दिग्विजय सिंह ने पाक के समर्थन में किया ये बड़ा ट्वीट, कांग्रेस को पड़ा भारी

SHARE

मध्य प्रदेश में कुछ ही महीनों बाद विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनावी माहौल के बीच पिछले कई सालों से सत्ता का वनवास झेल रही कांग्रेस शिवराज सरकार पर हमला बोलने से नहीं चूक रही. विरोध के चक्कर में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर का फोटो ट्वीट कर शिवराज सरकार पर निशाना साधा, लेकिन उनका ये दांव उल्टा पड़ा.

विरोध के चक्कर में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने एक निर्माणाधीन फ्लाईओवर का फोटो ट्वीट कर शिवराज सरकार पर निशाना साधा, लेकिन उनका ये दांव उल्टा पड़ा. दिग्विजय सिंह इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर जमकर ट्रोल हो गए. सिर्फ यहीं नहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट कर उन पर जवाबी हमला बोला. उल्‍लेखनीय है कि दिग्विजय ने एक पुल की तस्वीर शेयर करते हुए ट्वीट किया ‘यह है सुभाष नगर रेलवे फाटक भोपाल पर बन रहे रेल्वे ओवर ब्रिज का एक पोल, जिसमें आ गई दरारें/क्रैक इसकी गुणवत्ता पर सवाल उठाती हैं, अभी तो पुल भी नहीं बना. एक भाजपा नेता के मार्ग दर्शन निर्माण में हो रहा है, फिर यह सब क्यों और कैसे ? वाराणसी की दुर्घटना यहां भी ना हो जाये.तस्वीर की असलियत सामने आने के बाद दिग्गी राजा सोशल मीडिया पर बुरी तरह घिर गए. दरअसल, कई यूजर्स ने बताया कि ये पुल भोपाल का नहीं बल्कि पाकिस्तान का है.

पाकिस्तान के पत्रकार आदिल रजा ने साल २०१६ में ही इस तस्वीर को शेयर किया था. उन्होंने बताया था कि एक साल में भी रावलपिंडी में बन रहे इस पुल का कुछ काम पूरा नहीं हुआ है.इसके बाद मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी जवाबी हमला करने से नहीं चूके. शिवराज ने ट्वीट कर लिखा, ‘पता नहीं इनको ऐसा क्यों लगा कि मध्य प्रदेश में आज भी उनके ज़माने जैसी धांधलियां होती होंगी. यह वह हैं जो ज़मीन पर तो छोड़िए, अपने ट्विटर हैंडल पर भी पुल ठीक से नहीं बना पाए.’अपने गलत ट्वीट पर दिग्विजय सिंह ने माफी मांग ली है. एक ट्वीट पर कमेंट करते हुए उन्होंने कहा कि गलत पोस्ट के लिए मैं माफी चाहता हूं. मेरे एक दोस्त ने इसे भेजा था और मैंने बिना जांचे ट्वीट कर दिया. इससे पहले भी एक सामाजिक कार्यकर्ता ने भी फेसबुक और टि्वटर पर यही फोटो ट्वीट करते हुए इसे सुभाष नगर ओवरब्रिज का पुल बताया था. बाद में उन्होंने इसे डिलीट कर दिया था.