Home देश नई व्यवस्था से कम होगी पेट्रोल की कीमते

नई व्यवस्था से कम होगी पेट्रोल की कीमते

SHARE

लम्बे समय से देश में पेट्रोल की कीमतों को लेकर परेशानी चल रही है. अभी मिली खबर के अनुसार बता दे की नीति आयोग एक ऐसा फैसला लेने जा रही है जिस वजह से अब पेट्रोल कार जेब पर भारी नहीं पड़ेगी. दरअसल नीति आयोग चाहता है कि १५ फीसदी मेथेनॉल मिक्स्ड पेट्रोल से देश में गाड़ियां चलें.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ बता दे की नीति आयोग ऐसी नीति बना रहा है जिससे पेट्रोल कार पर खर्च १० फीसदी तक कम हो जाएगा. इसके तहत पेट्रोल से चलने वाले यात्री वाहनों में १५ फीसदी मेथनॉल मिलाया जाएगा. नीति आयोग इसे अनिवार्य बनाने के लिए एक कैबिनेट जल्द नोट लाएगा. अगर इसे कैबिनेट की मंजूरी मिलती है तो कच्चे तेल के आयात पर सरकार को काफी बचत होगी.

खबरों की माने केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी मिलने के बाद इस व्‍यवस्‍था को लागू कर दिया जाएगा और पेट्रोल वाहन पर ईंधन खर्च में १० फीसदी तक कटौती हो जाएगी. एक बड़े सरकारी अधिकारी ने बताया कि कैबिनेट सेक्रेटरी पी के सिन्हा खुद इस मामले में प्रगति पर नजर रखे हुए है. जुलाई के आखिरी हफ्ते में इस पर चर्चा के लिए एक हाई लेवल मीटिंग हुई थी.

बता दे की नीति आयोग ने इसे मेथनॉल इकोनॉमी रोडमैप नाम दिया है. मेथनॉल को जलाने से कोई धुआं नहीं निकलता और यह कार्बन भी उत्सर्जित नहीं करता है जिससे यह वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने में भी बड़ा कारगर साबित हो सकता है. भारत ने पेट्रोल में एथेनॉल मिलाना हाल ही में शुरू किया है. इसमें साल २०३० तक कच्चे तेल के आयात पर खर्च में सालाना १०० अरब डॉलर की कटौती की बात कही गई है.

जानकारी के मुताबिक़ मौजूदा व्‍यवस्‍था में पेट्रोल में १० फीसदी एथनॉल मिलाया जाता है. एथनॉल की कीमत ४२ रुपए प्रति लीटर है जबकि मेथनॉल की कीमत अनुमानित तौर पर २० रुपए लीटर के आसपास रहेगी. ऐसे में अगर पेट्रोल में १५ फीसदी मेथनॉल मिलाया जाता है तो पेट्रोल कीमतें १० फीसदी तक नीचे आ जाएंगी इसमे कोई आशंका नहीं.