Home देश पाक की नई सरकार पर भारत ने जताई उम्मीदे

पाक की नई सरकार पर भारत ने जताई उम्मीदे

SHARE

पाकिस्तान में आम चुनावों के बाद अपनी पहली प्रतिक्रिया में भारत ने उम्मीद जताई है कि पाकिस्तान की नई सरकार सुरक्षित, स्थिर और आतंकवाद व हिंसा मुक्त दक्षिण एशिया के लिए रचनात्मक रूप से काम करेगी. इससे क्षेत्र को सुरक्षित, स्थिर बनाने में मदद मिलेगी. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत चाहता है कि पाकिस्तान समृद्ध बने और विकास की ओर अग्रसर हो.

आपको बता दें कि पाकिस्तान का आम चुनाव काफी चर्चाओं में रहा और उथल-पुथल भरा रहा. ऐसे में भारत का इस चुनाव को लेकर अपनी प्रतिक्रिया देना काफी मायने रखता है. साथ ही पड़ोसियों के साथ शांति बनाकर रखे. भारत पाकिस्तान के लोगों की तरफ से आम चुनाव के जरिये लोकतंत्र में विश्वास व्यक्त किए जाने का स्वागत करता है.

मालूम हो कि पाकिस्तान में नेशनल असेंबली के चुनाव में सबसे बड़े क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान की पार्टी पीटीआई सबसे बड़े दल के रूप में उभरी है. उनकी पार्टी ने देश की २७० नेशनल असेंबली (एनए) सीटों में से ११६ सीटें जीती हैं. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत चाहता है कि पाकिस्तान समृद्ध बने और विकास की ओर अग्रसर हो. भारत के तरफ से प्रतिक्रिया देते हुए ये उम्मीद जतायी है कि पाकिस्तान की नई सरकार सुरक्षित, स्थिर और आतंकवाद, हिंसा मुक्त दक्षिण एशिया के लिए रचनात्मक रूप से काम करेगी.

जिससे कि क्षेत्र सुरक्षित, स्थिर बन सके. भारत के तरफ से कहा गया कि पड़ोसियों के साथ शांति बनाकर रखें. रवीश कुमार ने कहा कि भारत पाकिस्तान के लोगों की तरफ से आम चुनाव के जरिये लोकतंत्र में विश्वास व्यक्त किए जाने का स्वागत करता है.जानकारी दे दें कि पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ ११६ सीटें जीत कर पाकिस्तान आम चुनाव जीत तो गयी लेकिन सरकार बनाने के लिए इमरान खान की पार्टी को गठबंधन करने की जरूरत पड़ेगी.

वहीं, पनामा मामले में जेल में बंद पूर्व पीएम नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएलएन को ६४ सीटें ही मिली हैं. इसके अलावा अगर पाकिस्तान चुनाव आयोग की आधिकारिक घोषणा के मुताबिक, पीपीपी को ४३ , एमएमए को १३, एमक्यूएम को ४, बीएपी को ४ सीटें मिली हैं. २५ जुलाई को हुए संसदीय चुनाव के अंतिम नतीजों की घोषणा में कुछ देरी होने से हारी हुई पार्टियों के नेताओं में नाराजगी दिखी और उन्होंने चुनाव में धांधली के आरोप लगाये.