Home देश प्रधानमंत्री की प्रोटोकॉल पर हरकत करनेवाले अधिकारी पर हुई ये बड़ी कार्रवाई

प्रधानमंत्री की प्रोटोकॉल पर हरकत करनेवाले अधिकारी पर हुई ये बड़ी कार्रवाई

SHARE

डीएम के ओएसडी वीरेंद्र कुमार मिश्रा को प्रधानमंत्री का कार्यक्रम की जानकारी देने में लापरवाही बरतने पर कमिश्नर ने निलंबित कर दिया है. जनपद में पूर्वांचल एक्सप्रेस के शिलान्यास को लेकर प्रधानमंत्री के आने की मौखिक जानकारी मिलने के बाद से जिला स्तरीय अधिकारियों की ओर से तैयारी शुरू कर दी गई थी.

इसके बाद भी इतने महत्वपूर्ण कार्य में लापरवाही बरती गई.बतातें चलें कि १४ जुलाई को पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शिलान्यास किया था. इसी शिलान्यास के कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का प्रोटोकाल जिलाधिकारी कार्यालय में ७ जुलाई की शाम ७.३५ बजे प्राप्त भी किया गया, डीएम के ओएसडी वीरेंद्र कुमार मिश्रा ने इसे रिसीव किया था. लेकिन प्रोटोकाल को छिपा दिया गया. लेकिन पुलिस अधीक्षक कार्यालय को जब प्रोटोकाल प्राप्त हुआ तो पुलिस अधीक्षक ने जिलाधिकारी को अवगत कराया.

मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए उस समय अधिकारियों ने इसे दबा दिया था लेकिन मामले की जांच की जा रही थी. जांच के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया कि ७ जुलाई को जिलाधिकारी कार्यालय में तैनात ओएसडी विरेन्द्र मिश्रा ने प्रधानमंत्री के प्रोटोकाल को रिसिव किया था और उसे छिपा दिया. इस मामले की जांच मंडलायुक्त द्धारा करायी गई.

मंडलायुक्त जगतरात द्धारा की गयी कार्यवाई की संस्तुति के बाद जिलाधिकारी ने मंगलवार को ओएसडी विरेन्द्र मिश्रा को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया. जिलाधिकारी शिवाकांत द्धिवेदी ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रोटोकाल को छुपाने की जानकारी होने के बाद इसकी जांच करायी गयी. जांच में दोषी पाये जाने पर ओएसडी को निलम्बित कर दिया गया है.

मामला देश के प्रधानमंत्री के प्रोटोकाल से जुडा है, इसलिए इसकी भी जांच की जा रही है वे कौन से कारण है जिनके कारण ओएसडी ने प्रोटोकाल को छुपाया था. जानकारों की मानें तो जिलाधिकारी ओएसडी ने ऐसा कैसे किया ये बहुत ही गंभीर मामला है. लोगों का आशंका है कि ऐसा किसी के इशारे पर भी हो सकता है. हालांकि इस मामले के बाद पूरे मंडल में काफी हैरानी जताई जा रही है. बताया जा रहा है कि अगर किसी तरह का खुलासा हुआ तो ओएसडी पर बड़ी कार्रवाई होगी.