Home देश फिर एक बार PM मोदी ने किया ये बड़ा एलान, पुरे देश...

फिर एक बार PM मोदी ने किया ये बड़ा एलान, पुरे देश में मचा हाहाकार

SHARE

लोगों को बेनामी लेन-देन और संपत्तियों के बारे में जानकारी साझा करने के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से, सरकार ने शुक्रवार को एक संशोधित योजना के तहत १ करोड़ रुपये का इनाम देने की घोषणा की है. इसके तहत कोई व्यक्ति यदि बेनामी प्रहिबिशन यूनिट्स में जॉइंट या अडिशनल कमिश्नर के सामने किसी ऐसी संपत्ति के बारे में बताता है तो वह इनाम का हकदार होगा.

अब बेनामी संपत्ति के बारे में बताने वाला मुखबिर करोड़पति बन जायेगा.सरकार के नयी निति के तहत बेनामी संपत्ति के बारे में गुप्त जानकारी देने वालों को सरकार की तरफ इनाम में १ करोड़ रुपये दिए जायेंगे.यदि कोई शख्स बेनामी प्रहिबिशन यूनिट्स में जॉइंट या अडिशनल कमिश्नर को ऐसी किसी संपत्ति के बारे में सूचना देता है तो सूचना देने वाले गुप्तचर को ट्रांजैक्शन इन्फोरमेट्स रिविर्ड स्कीम २०१८ के तहत १ करोड़ रुपये दिए जायेंगे.वित्त मंत्री ने साफ़ कर दिया है की ऐसी संपत्तियों की जानकारी इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के इन्वेस्टीगेशन डायरेक्टोरेट को देने होगी. ट्रांजैक्शन इन्फोरमेट्स रिविर्ड स्कीम २०१८ के बारे में जानकारी आईटी ऑफिस या फिर उसके वेबसाइट पर उपलब्ध है.बेनामी संपत्ति के बारे में जानकारी देने वाले व्यक्ति की पहचान को गोपनीय रखी जाएगी और पूरे मामले में सख्ती से गोपनियता के नियमों का पालन किया जाएगा.

इतनी ही नहीं सरकार की तरफ से ये भी कहा गया है की इनकम टैक्स इन्फोरमेट्स रिवॉर्ड स्कीम के तहत भी मुखबिरों को ५० लाख रुपये इनाम के तौर पर दिए जायेंगे.इसके लिए मुखबिर को इनकम टैक्स की चोरी करने वाले शख्स के बारे में आयकर विभाग के जाँच निदेशालय को देना होगा. इनकम टैक्स इन्फोरमेट्स रिवॉर्ड स्कीम १९६१ की आईटी एक्ट के तहत शुरू की गयी है.बेनामी संपत्ति रखने वाले का पता लगाना आयकर और प्रवर्तन निदेशालय के लिए हमेशा से ही टेड़ी खीर रहा है.लेकिन विभाग की इस नयी स्कीम के बाद ऐसा मन जा रहा है की अब बेनामी संपत्ति का पता लगाने में कामयाबी मिलेगी.मंत्रालय के मुताबिक इस स्कीम का लाभ विदेशी नागरिक भी उठा सकते हैं.अधिकारी ने बताया कि बेनामी संपत्ति की जानकारी सटीक होनी चाहिए और मुखबिर की पहचान पूरी तरह से गुप्त रखी जाएगी.