Home देश फिर मोदी और जिनपिंग की मुलाकात,ये वजह आई सामने.

फिर मोदी और जिनपिंग की मुलाकात,ये वजह आई सामने.

SHARE

भारत के पंतप्रधान नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति सही जिनपिंग की मुलाकात २७ और २८ अप्रैल को होगी. इस मुलाकात में भारत और चीन के बीच में हो रहे बिगड़े हालत में सुधार लाने की कोशिश की जा सकती है. दोनों देशो के विदेश मंत्रियो ने इस मुलाकात की जानकारी दी थी.

खबर के मुताबिक ये मुलाकात अनऔपचारिक होगी. इस मुलाकात में किसी भी तरह के करार पर साइन नहीं होगी और कोई भी प्रेस कॉन्फरन्स भी नहीं होगी. चीन के उप विदेश मंत्री कोंग जुआनयू ने कहा के दोनों देशों के बीच लंबित मुद्दों के समाधान और पारस्परिक विश्वास कायम करने के लिए महत्वपूर्ण सहमित पर पहुंचने की कोशिश करेंगे आगे उन्होंने ये भी बताय की इसमें नाही किसी समज्योते पर हस्ताक्षर होंगे और नाही कोई दस्ताविज जारी किया जाएगा सिर्फ गतिरोध वाले मुद्दे सुलझाने पर बातचीत होगी. वही ये भी खबर सामने आयी है की नई दिल्ली में सूत्रों ने ये कहा कि बैठक में ‘‘मुद्दा आधारित चर्चा नहीं होगी, बल्कि राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मामलों पर एक-दूसरे के नजरिए को समझने के लिए दोनों नेताओं के बीच एक रणनीतिक चर्चा होगी.’’

जैसे की सब जानते है भारत और चीन के बीच कई मामलो को लेकर गतिरोध बन रहा है लेकिन इस विषय को लेकर दोनों नेताओ के बीच कोई भी बातचीत नहीं हुयी है. उदहारण के तौर पर आपको ये बताते है की जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र से वैश्विक आतंकी घोषित कराने के भारत कोशिश में रहा है लेकिन बिना किसी सबुत चीन ये नहीं करना चाहता है तो इस बात पर कोई भी बातचीत नहीं होगी इसके अलावा भारत को परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) की सदस्यता पाने के विषय पर भी कोई बातचीत नहीं होगी. आपको ये भी बता दे की डोकलाम विवाद पर भी दोनों नेता कोई बातचीत नहीं करेंगे बल्कि दोनों देशो में शांति और राष्ट्रिय अंतरराष्ट्रिय स्तर पर विकास के बारे में बातचीत हो सकती है.