Home देश बंगले की तोड़फोड़ से अखिलेश मुश्किल में

बंगले की तोड़फोड़ से अखिलेश मुश्किल में

SHARE

सरकारी आवास मामले में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मुश्किलें बढ़ती हुई दिखाई दे रही है. निर्माण विभाग ने मामले में जांच कर राज्य सम्पत्ति विभाग को रिपोर्ट सौंप दी है. जिसे राज्य सम्पत्ति विभाग ने सीएम दफ्तर भेज दिया है. बता दे की रिपोर्ट में पीडब्ल्यूडी के इंजिनियरों ने तोड़-फोड़ के कारण करीब १० लाख रुपये के नुकसान का आकलन किया है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ बता दे की रिपोर्ट में बंगले का वीडियो है. बंगले में छत, किचन, बाथरूम और लॉन में सबसे ज्यादा तोड़-फोड़ की है और कई जगह सीलिंग तोड़कर बिजली का सामान निकाला गया. यही नहीं आवास में कई जगहों पर टाइल्स, एसी के स्विच बोर्ड, किचन की सिंक और टोंटी, बाथरूम की टोटियां और लॉन की कुर्सी, जिम, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, बैडमिंटन कोर्ट और साइकल ट्रैक बुरी तरह से क्षतिग्रस्त है.

खबरों के अनुसार निर्माण विभाग द्वारा पेश की गई २६६ पन्नों की रिपोर्ट में अखिलेश यादव को मिले सरकारी आवास में हुई तोड़फोड़ का आकलन किया गया है. अखिलेश ने आठ जून को अपने बंगले की चाबी राज्य सम्पत्ति विभाग को सौंपी थी. इसके बाद सरकार द्वारा आंकलन करवाने पर तोड़फोड़ की बात समाने आई थी.

बता दे की सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर अखिलेश यादव ने सरकारी बंगला खाली किया था, उन्होंने ८ जून २०१८ को सरकारी आवास की चाभी राज्य सम्पत्ति विभाग को सौंपी थी. इसके बाद बंगले में तोड़फोड़ की बात सामने आई थी. फिलहाल जहां राज्य सम्पत्ति विभाग पूर्व सीएम को रिकवरी नोटिस देने की तैयारी कर रहा है, वहीं दूसरी ओर अखिलेश यादव की ओर से इस पर कोई बयान नहीं आया है.

जानकारी के मुताबिक़ राज्य सम्पत्ति अधिकारी योगेश कुमार शुक्ल ने कहा, “जांच रिपोर्ट हमें आज ही मिली है. इसे व्यापक तौर पर देखने के बाद ही हम कुछ कह सकते है कि कहां क्या नुकसान हुआ है. हम इसका सार तैयार कर रहे है.” ऐसे में सरकारी आवास के खाली करने के कई दिन बाद तोड़फोड़ का मामला सुर्खियों में आया है.