Home देश ब्रिक्स सम्मेलन में PM मोदी ने युवाओ के बारे में दिया...

ब्रिक्स सम्मेलन में PM मोदी ने युवाओ के बारे में दिया ये बडा बयान

SHARE

दक्षिण अफ्रीका की राजधानी जोहानिसबर्ग में बृहस्पतिवार को सभी पांच राष्ट्र प्रमुखों की औपचारिक मुलाकात के साथ ही १०वें ब्रिक्स शिखर सम्मेलन की शुरुआत हो गई. इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूर्ण अधिवेशन को संबोधित किया. चौथी औद्योगिक क्रांति पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि युवाओं का भविष्य तैयार करने के लिए हमें स्कूलों और विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों को तकनीक के अनुसार बदलना होगा.

हमें यह सुनिश्चित करना है कि प्रौद्योगिकी में बदलाव की गति को हमारे पाठ्यक्रम में जगह मिले. मोदी ने कहा कि नव प्रौद्योगिकी आविष्कारों से बेहतर सेवाएं उपलब्ध कराने के साथ उत्पादकता भी बढ़ाई जा सकती है.प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘भारत चौथी औद्योगिक क्रांति के क्षेत्र में ब्रिक्स देशों के साथ मिलकर काम करना चाहता है और सभी देशों को इस संदर्भ में इस क्षेत्र में बेहतर तौर तरीकों और नीतियों को साझा करने का आह्वान किया.

‘ उन्होंने कहा, ‘कानून के अनुपालन के साथ प्रौद्योगिकी के जरिये सामाजिक सुरक्षा तथा सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को सीधे भुगतान इसका एक उदाहरण है. ‘नई औद्योगिक तकनीक और डिजिटल इंटरफेस जिस नई दुनिया का निर्माण कर रहे हैं, वह एक अवसर भी है और एक चुनौती भी. इसके साथ ही उन्होंने इस क्षेत्र की बेहतरीन पद्धतियों और नियमों को आपस में साझा करने की भी बात कही.

आपको बता दें कि इस साल सम्मेलन की का विषय ‘चौथी औद्योगिक क्रांति में विकासशील देशों का समावेशी विकास और साझा समृद्धि’ है. पीएम मोदी के अलावा इस सम्मेलन में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा भी मौजूद हैं. १८वीं शताब्दी की प्रारंभिक औद्योगिक क्रांति के बाद चौथी औद्योगिक क्रांति चौथा प्रमुख औद्योगिक युग है. यह उन प्रौद्योगिकियों के संलयन की विशेषता को दर्शा रहा है जो भौतिक, डिजिटल और जैविक क्षेत्रों के बीच की रेखाओं को धुंधला कर रहे हैं.

बता दें कि दक्षिण अफ्रीका इस उत्सपव की दूसरी बार मेजबानी कर रहा है. ब्रिक्स सम्मेलन में वैश्विक मुद्दों, अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा, वैश्विक शासन और व्यापार संबंधी मुद्दों समेत कई मामलों पर विचार-विमर्श किया गया. इस दौरान पीएम ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग समेत ब्रिक्स के कई अन्य नेताओं से मुलाकात की. ब्रिक्स समूह में ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं.