Home देश ब्रिक्स से लौटते ही कांग्रेस की टिप्पणी

ब्रिक्स से लौटते ही कांग्रेस की टिप्पणी

SHARE

जोहान्सबर्ग में ब्रिक्स शिखर सम्मेलन के दौरान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुलाक़ात की. बता दे की कांग्रेस ने सम्मेलन के दौरान चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के सामने डोकलाम मुद्दे को नहीं उठाने पर प्रधानमंत्री मोदी पर हमला बोला है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पीएम मोदी पर निशाना साधा है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ बता दे की ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति की मुलाकात के बाद कांग्रेस ने सरकार की विदेश नीति पर सवाल उठाया है. कांग्रेस ने कहा कि भारतीय प्रधानमंत्री चीन के समक्ष डोकलाम का मुद्दा उठाना एक बार फिर भूल गए. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने यह भी कहा कि देश की जनता जानना चाहती है कि आखिर प्रधानमंत्री चीन को ५६ इंच का सीना और लाल आंखें कब दिखाएंगे.

खबरों की माने पीएम मोदी ने चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग से गुरूवार को मुलाक़ात की थी. पीएम मोदी ने जिनपिंग से पिछले करीब तीन महीने में तीसरी बार मुलाक़ात की है. दोनों नेताओं ने मुलाकात के दौरान अंतरराष्‍ट्रीय मसलों, ब्रिक्‍स सहयोग और आपसी हितों से जुड़े मुद्दों पर चर्चा की है यह माना जा रहा है.

बता दे की कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा की, “अमेरिका की कांग्रेशनल कमेटी में बकायदा ये बयान दिया गया कि डोकलाम में चीन ने अपनी बढ़त बना ली है. वो हर रोज और ज्यादा सैन्य सामग्री पहुंचा रहा है साथ ही सैन्य ढांचे का निर्माण कर रहा है. ये राष्ट्रीय सुरक्षा को सीधे-सीधे चुनौती भी है और खतरा भी. कटु सत्य यह है कि ५६ इंच की छाती वाले और चीन से लाल आंख दिखा कर बात करने का वायदा करने वाले मोदी जी देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के बारे में पूरी तौर से चुप्पी साधे बैठे है.”

जानकारी के मुताबिक़ पीएम मोदी ने जिनपिंग से मुलाकात के बाद एक ट्वीट भी किया था. इस ट्वीट में जानकारी दी गई थी, “भारत और चीन की दोस्‍ती का भविष्‍य. पीएम नरेंद्र मोदी और राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने दक्षिण अफ्रीका में ब्रिक्‍स समिट से अलग वार्ता की.”