Home देश भारत फिर एक बार पाक पर पडा भारी, ये वजह आयी सामने

भारत फिर एक बार पाक पर पडा भारी, ये वजह आयी सामने

SHARE

देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) ने शुक्रवार को एक नया रिकॉर्ड बनाया। टीसीएस देश की पहली ऐसी कंपनी बन गई है जिसकी मार्केट कैप ७ लाख करोड़ रुपए (१०२.९४ अरब डॉलर) के पार हो गई. कंपनी की ताकत का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि पड़ोसी देश पाकिस्तान के स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड सभी कंपनियों की मार्केट कैप से भी TCS की मार्केट कैप ज्यादा है.

रुपए में कमजोरी से दो दिन से टीसीएस के शेयर में तेजी जारी है.दो दिन में शेयर में 5 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है. शुक्रवार को शेयर ०.३९ फीसदी की बढ़त के साथ खुला औऱ कारोबार के दौरान १.९२ फीसदी बढ़कर ३६७४ रुपए के भाव पर पहुंच गया, जो ५२ हफ्ते का नया हाई है. शेयर में आई की तेजी से हाई वैल्यू पर कंपनी की मार्केट कैप बढ़कर ७,०३,३०९.२६ करोड़ रुपए हो गई. खबर के अनुसार टीसीएस इस मामले में पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्टेड सभी ५५८ कंपनियों पर भी भारी पड़ गई है. टीसीएस की अकेले मार्केट कैप १०२.९४ बिलियन डॉलर है, जबकि पाकिस्तान की ५५८ कंपनियों की मार्केट कैप मात्र ८८ अरब डॉलर है.टाटा कंसल्टेंसी सर्विस जहां एक तरफ मार्केट कैप में देश की नंबर वन कंपनी बन गई है, वहीं इसने कई देशों की कुल जीडीपी को भी पीछे कर दिया है.

श्रीलंका, इक्वाडोर, स्लोवाकिया, केन्या, लक्जमबर्ग, कोस्टा रिका, बुलगारिया, बेलारूस और जॉर्डन विश्व के कुछ ऐसे देश हैं, जिनकी जीडीपी १०० बिलियन डॉलर से काफी कम है. वहीं विश्व में कुल ६५ देश ऐसे हैं, जिनकी जीडीपी १०० बिलियन डॉलर से ज्यादा है.टीसीएस का एम-कैप भारत और जापान के संयुक्त रक्षा बजट के बराबर पहुंच गया है. यह टाटा संस के कुल बजट का ६२ फीसदी और भारत के विदेशी मुद्रा भंडार का एक-चौथाई हिस्सा है. इसके अलावा टीसीएस ने पाकिस्तान के कराची स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड सभी शेयरों को भी पछाड़ दिया है.सोशल नेटवर्किंग विशाल फेसबुक, जेफ बेजोस ‘अमेज़ॅन, ऐप्पल, आईबीएम, माइक्रोसॉफ्ट, अल्फाबेट (Google) कुछ सूची में से कुछ हैं.टीसीएस के लिए एक विशाल मोका के रूप में “डिजिटल युग” को संबोधित करते हुए, मुख्य एन चंद्रशेखरन ने कहा कि कंपनी “सही निवेश करके लगातार मूल्य बनाने में सक्षम है.