Home देश ममता ने की सुषमा-राजनाथ की तारीफ

ममता ने की सुषमा-राजनाथ की तारीफ

SHARE

देश में राष्ट्रीय नागरिक पंजी यानी के एनआरसी का मुद्दा सुर्खिया बटोर रहा है. बता दे की पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से यह स्पष्ट करने को कहा कि क्या केंद्र सरकार असम की तर्ज पर पश्चिम बंगाल में भी एनआरसी तैयार करने की कवायद चाह रही है.

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ बता दे की एनआरसी की ड्राफ्ट रिपोर्ट के ऊपर राजनीति गरमाती जा रही है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह से मिलकर कहा है कि इस मुद्दे पर देश में गृह युद्ध भी छिड़ सकता है. ममता ने असम में एनआरसी तैयार करने की कवायद के लिए बीजेपी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार पर राजनीतिक फायदे के लिए लोगों को बांटने का आरोप लगाया है.

खबरों की माने सीएम ममता बनर्जी ने गृह मंत्री से मुलाक़ात करने के बाद कहा की, “मैंने उनसे एनआरसी बिल में संशोधन करने या नया बिल लाने के लिए कहा. उन्होंने मुझे भरोसा दिलाया है कि लोगों को परेशान नहीं किया जाएगा.” उन्होंने आगे बताया की, “मैंने उनसे इस रिपोर्ट के बारे में भी बात की कि एनआरसी को बंगाल में भी लागू किया जाएगा. मैंने उनसे कहा कि अगर ऐसा कुछ हुआ तो गृह युद्ध छिड़ सकता है.”

बता दे की दिल्ली में ममता ने आज राजनाथ से उनके आवास पर मुलाकात की और दावा किया कि उन्होंने उन ४० लाख लोगों के नाम उन्हें सौंपे है जिनके नाम कल एनआरसी के अंतिम मसौदे में शामिल नहीं किए गए. ममता ने सोमवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा था कि यह बीजेपी की वोटबैंक की राजनीति है. एनआरसी लाने के फैसले को आपदा करार देते हुए ममता ने केंद्रीय गृह मंत्री से अपील की कि वह असम के लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए संशोधन करें.

जानकारी के मुताबिक़ इससे पहले उन्होंने कहा था कि असम में एनआरसी को राजनीतिक मकसद से लोगों को बांटने के लिए लाया गया है. बाद में गृह मंत्री ने बयान जारी कर कहा कि एनआरसी का मसौदा असम समझौते के प्रावधानों के मुताबिक और सु्प्रीम कोर्ट की निगरानी में तैयार किया गया है.