Home देश मलेशिया में जाकिर नाइक की फिर सामने आयी ये नयी हरकत

मलेशिया में जाकिर नाइक की फिर सामने आयी ये नयी हरकत

SHARE

इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक को लेकर खबर आ रही है कि वे मलेशिया में अपना नया टीवी चैनल खोलने की कोशिश में है. इसपर भारत की ओर से बय़ान आय़ा है कि जाकिर के अनुरोध पर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है. ऐसे में वहां के हालात के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता है.

जाकिर को लेकर आ रही इस खबर पर भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रविश कुमार ने कहा है कि ‘भारतीय विदेश मंत्रालय की ओर से जाकिर नाईक का प्रस्ताव अभी पेंडिंग है. उनको जमीन दिए जाने के मामले में अभी कुछ भी कह पाना आसान नहीं है. इस फोरम पर हम कुछ नहीं कह सकते.रवीश ने कहा कि ‘मंत्रालय ने इसी साल की शुरुआत में आपराधिक मामलों के आधार पर नाईक के प्रत्यर्पण के लिए औपचारिक अनुरोध किया था.

इस स्थिति में मंत्रालय सिर्फ यही कह सकता है कि हमारा प्रत्यर्पण अनुरोध मलेशिया प्रशासन की ओर से विचाराधीन है. मंत्रालय मलेशिया सरकार के साथ संपर्क बनाए हुए है. हम सरकार के साथ संपर्क में हैं.’बता दें कि जाकिर नाइक के पहले से भी कई टीवी चैनल हैं. उसके टीवी चैनल पीस टीवी पर पहले ही कई देशों में बैन किया जा चुका है. ’

इससे पहले पिछले हफ्ते विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाईक ने मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद से मुलाकात की. मुलाकात से ठीक एक दिन पहले ही मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर बिन मोहम्मद ने जाकिर नाईक को प्रत्यर्पित कर भारत भेजने से इनकार कर दिया था.प्रधानमंत्री मोहम्मद ने कहा था कि जब तक वह हमारे देश में कोई दिक्कत खड़ी नहीं कर रहे हैं तब तक उनका प्रत्यर्पण नहीं किया जाएगा. जाकिर को मलेशिया की नागरिकता भी प्राप्त है.

बीते दिनों ऐसी खबरें आई थीं कि जाकिर को भारत लाया जा सकता है, लेकिन बाद में विदेश मंत्रालय ने साफ किया कि ये खबरें सही नहीं हैं. इसके बाद इंडिया टुडे से बातचीत में जाकिर ने अपनी गिरफ्तारी और भारत आने की खबरों को खारिज किया था.भारत की ओर से जनवरी में मलेशिया सरकार से नाईक को स्वदेश भेजने का औपचारिक अनुरोध किया गया था. वह भारत में नफरत फैलाने वाले अपने भाषणों से युवाओं को आतंकवादी गतिविधयों के लिए उकसाने और मनी लॉन्ड्रिंग जैसे मामलों का आरोपी है. दोनों देशों में प्रत्यर्पण संधि के बावजूद मलेशिया नाईक को भारत भेजने के लिए तैयार नहीं है.