Home देश माल्या और नीरव मोदी के बाद बैंक घोटाले में भाग गया ये...

माल्या और नीरव मोदी के बाद बैंक घोटाले में भाग गया ये नया शख्सियत

SHARE

३ हजार करोड़ रुपए के बैंक घोटाले का आरोपी हीरा कारोबारी मेहुल चौकसी एंटीगुआ में है. केंद्र सरकार के सूत्रों ने बताया कि कैरेबियन देश से पासपोर्ट हासिल करने के बाद चौकसी इसी महीने अमेरिका से एंटीगुआ पहुंचा. दरअसल वहां एंटीगुआ नेशनल डेवलपमेंट फंड में सिर्फ दो लाख डॉलर करीब १.३ करोड़ रुपए जमा करके कोई भी नागरिकता हासिल कर सकता है.

वहां की सिटिजनशिप वेबसाइट कहती है कि अपराधियों को नागरिकता नहीं दिया जाता. एंटीगुआ में रियल एस्टेट में चार लाख डॉलर करीब २.६ करोड़ रुपए या दूसरे कारोबार में १५ लाख डॉलर, करीब १०.३ करोड़ रुपए का निवेश करके भी पासपोर्ट हासिल किया जा सकता है. मेहुल वहां का पासपोर्ट हासिल करने के बाद अब यूके समेत १३२ देशों की यात्रा कर सकता है. उसे एंटीगुआ में लगातार रहना भी जरूरी नहीं है. वहां सिर्फ पांच साल में पांच दिन बिताकर अपनी नागरिकता बरकरार रख सकता है.

बैंकिंग इंडस्ट्री के सबसे बड़े फ्रॉड का खुलासा होने पर सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने चौकसी और उसके भांजे नीरव मोदी के खिलाफ जांच शुरू की थी. इंटरपोल ने जून में नीरव के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया था, जबकि मेहुल के लिए अपील पेंडिंग है. पासपोर्ट जारी होने पर ईडी ने एंटीगुआ सरकार से संपर्क साधा. सीबीआई चौकसी के खिलाफ दो मामलों में चार्जशीट दायर कर चुकी है.

इसके अलावा मुंबई की एक स्पेशल कोर्ट ने उसके खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी किया है. भगोड़े कारोबारी मेहुल चौकसी ने अपने खिलाफ सोमवार को गैर-जमानती वारंट को रद्द किए जाने की मांग की है. उसने कहा कि अगर मुझे भारत लाया गया तो जनता मार डालेगी. देश में मेरे खिलाफ काफी गुस्सा है. इनमें पूर्व कर्मचारी, कर्जदाता, जेल कर्मचारी और कैदी शामिल हैं. भारत में भीड़ की पिटाई से हत्‍या के कई मामले सामने आए हैं. इसकी शुरुआत पीएनबी की मुंबई स्थित ब्रेडी हाउस ब्रांच से २०११ से हुई.

नीरव और मेहुल ने कुछ बैंक अफसरों को अपने साथ मिलाकर फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स (एलओयू) जारी कराए. इनके जरिए २०१८ तक हजारों करोड़ की रकम विदेशी खातों में ट्रांसफर की गई. इसका खुलासा जनवरी में हुआ, जब पंजाब नेशनल बैंक ने सेबी और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को ११,३५६ करोड़ रुपए के घोटाले की जानकारी दी. बाद में पीएनबी ने सीबीआई को १३०० करोड़ के नए फ्रॉड की जानकारी दी. इस तरह घोटाले की रकम १३,४०० करोड़ रुपए तक पहुंच गई.