Home देश मेघालय में खुद को हिन्दू बताने वाले राहुल गाँधी की ये सच्चाई...

मेघालय में खुद को हिन्दू बताने वाले राहुल गाँधी की ये सच्चाई आयी सबके सामने

SHARE

कांग्रेस की सरकार ने वादे बहुत किये है लोगोसे लेकिन उन्होंने कभी निभाए नहीं है. भारत की जनता को बेवक़ूफ़ बनाना बड़ा आसन है इसीलिए राहुल गाँधी सबको बनाते फिरते है.

राहुल गाँधी कांग्रेस के नेते गुजरात के चुनाव से पहेले जनेऊधारी हिन्दू बन्ने का नाटक रचा रहे थे. राहुल गाँधी सिर्फ वोट चाहते थे इसीलिए उन्होंने जनेऊधारीहिन्दू बनने का नाटक किया. राहुल गाँधी बहुत षड्यंत्र रचते रहते है जिसकी कोई हद नहीं है. भारत की जनता बड़ी ही भोली है जिससे बेवक़ूफ़ बनाना आसन है. भारतीय लोगो को कितनी जगहों पर लूटा जाता है. खुद अंग्रेजो के ज़माने से भारत को लुटा जा रहा है. भारत का कीमती खज़ाना भी अंग्रेजो ने लूट लिया. उनके बाद करीब  ६० साल तक कांग्रेस सरकार ने भारत को लूटा. आज कल भ्रष्टाचार इतना बढ़ गया है की भारत में लोगो को सामान्य ज़रूरते भी प्राप्त नहीं होती. और राहुल गाँधी जैसे भ्रष्टाचारी नेते होंगे तोह भारत कभी उन्नति के और बढेगा ही नहीं.

राहुल गाँधी कर्णाटक में मौलाना राहुल भी बनकर घूम रहे थे. कित्नु राहुल गाँधी असल में कट्टर रोमन कैथोलिक है. यह बात मेह्घलाया में पता चली. मेह्घलाया में चुनाव होनेवाले है. मेघालय के ८०% लोग इसाई है. यहाँ के लोग च्रिस्तैन है. इसीलिए अब शायद राहुल गाँधी इसाई होने का नाटक कर रहे हो. बीजेपी की हालत इस वार्ड में पहेले से अच्छी है. राहुल गाँधी अपनी मेह्घलाया की रैली में इसाई बनकर कहने लगे की “बीजेपी हमारा चर्च चीन लेना चाहता है.” राहुल गाँधी बताते है की हम इसाई है और बीजेपी इसाईओं को खरीदना चाहती है. यह भी कहते है की इसाई और चर्च बीजेपी को तगड़ा जवाब मिलेगा. गुजरात और नागालैंड के चर्च ने बीजेपी को फ़तवा दिया था. राहुल गाँधी का असली रंग क्या है यह बात कोई नहीं जनता.