Home देश मेरठ में भाजपा की बड़ी तैयारी, ११ -१२ अगस्त पर होगा ये...

मेरठ में भाजपा की बड़ी तैयारी, ११ -१२ अगस्त पर होगा ये नया प्लान

SHARE

भाजपा प्रदेश कार्यसमिति की बैठक ११-१२ अगस्त को मेरठ होगी. दो दिवसीय बैठक के समापन सत्र में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी मौजूद रहेंगे. बुधवार को यह फैसला मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्रनाथ पांडेय व महामंत्री संगठन सुनील बंसल की मौजूदगी में प्रमुख नेताओं की बैठक में लिया गया.

बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष महेन्द्र नाथ पाण्डेय ने कहा कि बैठक में आगामी संगठनात्मक गतिविधियों तथा पार्टी द्वारा चलाये जाने वाले कार्यक्रमों के विषय में विस्तारपूर्वक चर्चा हुई. साथ में पिछले दिनों पार्टी द्वारा किये गए विभिन्न कार्यक्रमों एवं अभियानों की भी समीक्षा की गई.उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखकर सभी छह क्षेत्रों में बूथ स्तर तक संगठनात्मक योजनाओं एवं कार्यक्रमों को नीचे तक पहुंचाने का काम और भी अधिक प्रभावी ढंग से करना है.
किसान, गरीब, नौजवान सहित समाज के हर वर्ग के लिए केन्द्र तथा राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं को पहुंचाने और जनता की अपेक्षाओं को संगठन के माध्यम से सरकार तक पहुंचाने का काम भी और अधिक प्रभावी ढंग से क्रियान्वित करने का निर्णय लिया गया.भाजपा मुख्यालय में यह जानकारी देते हुए प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्र नाथ पांडेय ने बताया कि मेरठ बैठक में लोकसभा चुनाव के रोडमैप पर चर्चा के साथ संगठनात्मक गतिविधियों व कार्यक्रमों पर चर्चा होगी.
किसानों की चर्चा करते हुए कहा कि किसान आजादी के बाद से ही अपने हक के लिए संघर्ष करते रहे, लेकिन उन्हें उनका हक देने का साहस किसी ने नहीं दिखाया. उन्होंने बताया कि बैठक में २१ जुलाई को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की शाहजहांपुर में होने वाली किसान कल्याण रैली की तैयारियों पर भी चर्चा की गई. किसान कल्याण रैली में प्रदेश के किसानों की ओर से ढाई से तीन लाख किसान प्रधानमंत्री का अभिनन्दन करेंगे.उधर लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटी भाजपा का मेरठ में प्रदेश कार्यसमिति की बैठक आयोजित करने को महत्वपूर्ण माना जा रहा है.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संत कबीर नगर, आजमगढ़, वाराणसी और मीरजापुर की रैली, राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की आगरा व मीरजापुर में लोकसभा संचालन समिति की बैठक के बाद भाजपा ने अब पश्चिम उप्र की ओर रूख किया है. १४ खरीफ फसलों के न्यूनतम समर्थन मूल्य में भारी बढ़ोत्तरी के अलावा गन्ने की एफआरपी में २० रुपये की वृद्धि कर सरकार किसानों को लुभाने में लगी है. शाहजहांपुर रैली कामयाब बनाने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंक दी है. किसान रैली के बाद मेरठ में कार्यसमिति बैठक कर भाजपा नेतृत्व वर्ष २०१४ का प्रदर्शन दोहराने की आस लगाए है.