Home देश मोदी के चलते चीन आया भारत के समर्थन में, दिया ये बड़ा...

मोदी के चलते चीन आया भारत के समर्थन में, दिया ये बड़ा बयान

SHARE

चीन और भारत तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्‍यवस्‍था और विश्व में सर्वाधिक जनसंख्या वाले देश हैं. इसलिए इसमें कोई दो राय नहीं कि अगर भारत और चीन मिलकर आगे बढ़ें, तो पूरे विश्‍व का भविष्‍य उज्‍ज्‍वल होगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यही बात शंगरी-ला वार्ता के दौरान कही थी, जिसका चीन ने स्‍वागत किया है. चीन ने कहा है कि वह भारत के साथ मिलकर चलने को तैयार है.

चीन ने शंगरी-ला वार्ता में भारत और चीन के संबंधों पर पीएम मोदी की टिप्पणी पर खुशी जाहिर की. चीन ने भारत के साथ काम करने की इच्छा भी व्यक्त की. पीएम मोदी ने सिंगापुर में शंगरी-ला वार्ता में अपने संबोधन में पिछले सप्ताह कहा था कि एशिया और विश्व का एक बेहतर भविष्य होगा, जब भारत और चीन एक-दूसरे के हितों के प्रति संवेदनशील होने के साथ ही विश्वास और आत्मविश्वास के साथ मिलकर काम करेंगे.बता दें, पीएम के इस बयान का चीन ने स्‍वागत किया है और भारत के साथ काम करने की इच्छा भी जताई है. चीन के विदेश मंत्रायल के प्रवक्‍त ने कहा कि, ‘हम ऐसी सकारात्मक टिप्पणियों की सराहना करते हैं. दोनों देश अंतरराष्ट्रीय और चीन द्विपक्षीय संबंधों के विकास की सकारात्मक गति को बनाए रखने, पारस्परिक रूप से हितकारी सहयोग को बढ़ावा देने, मतभेदों को व्यवस्थित तरीके से दूर करने, सीमावर्ती इलाकों में शांति बनाए रखने और इस तरह से ही चीन-भारत संबंधों को आगे बढ़ाने के लिए आम सहमति के साथ भारत के साथ काम करने का इच्छुक है.

गौरतलब है कि भारत और चीन पिछले दिनों डोकलाम सीमा विवाद को लेकर आमने-सामने आ गए थे. दोनों देशों की सेनाओं ने हथियार तान लिए थे. लेकिन शांतिपूर्वक ये मसला निपट गया था. पीएम मोदी ने संबोधन में इसका जिक्र करते हुए कहा था कि भारत और चीन दोनों ने मुद्दों से निपटने में परिपक्वता और विवेक को प्रदर्शित किया है और शांतिपूर्ण सीमा सुनिश्चित करने के लिए दुनिया के दो अधिक आबादी वाले देशों के बीच सहयोग बढ़ रहा है.बता दें, अप्रैल के अखि‍री हफ्ते में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय अनौपचारिक दौरे पर चीन गए थे. वहां चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ करीब नौ घंटे बिताए थे. इस बीच दोनों नेताओं ने एक साथ चाय की चुस्की ली और लंच किया. हालांकि इस मीटिंग में न तो कोई समझौता हुआ और न ही दोनों नेताओं ने ज्वॉइंट स्टेटमेंट जारी किया.