Home देश मोदी को आडवाणी ने किया सम्मानित

मोदी को आडवाणी ने किया सम्मानित

SHARE

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की संसदीय दल की बैठक जारी है. बैठक से पहले अविश्वास प्रस्ताव पर मिली जीत के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सम्मानित किया गया. पार्टी के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी, केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने पीएम मोदी को सम्मानित किया.

भाजपा की संसदीय बोर्ड की बैठक संसद के लाइब्रेरी भवन में हो रही है. बैठक में असम पर एनआरसी के अंतिम ड्राफ्ट पर विपक्ष के हमलावर रवैये पर चर्चा हो सकती है. साथ ही आगे की रणनीति पर भी विचार होगा।हालांकि इस मामले में गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को कहा था कि असम के लिए राष्ट्रीय नागरिक पंजीयन का मसौदा पूरी तरह “निष्पक्ष” है और जिनका नाम इसमें शामिल नहीं है उन्हें घबराने की जरुरत नहीं है क्योंकि उन्हें भारतीय नागरिकता साबित करने का मौका मिलेगा.लेकिन इसके बावजूद कांग्रेस, टीएमसी समेत कई पार्टियां इसके लिए मोदी सरकार को दोषी ठहरा रही हैं.गृहमंत्री ने यह टिप्पणी तब की थी जब प्रकाशित हुए एनआरसी के मसौदे में राज्य के करीब ४० लाख निवासियों के नाम शामिल नहीं हैं. राजनाथ सिंह ने कहा कि अगर किसी का नाम अंतिम सूची में शामिल नहीं है तो वह विदेशी न्यायाधिकरण का दरवाजा खटखटा सकता है.

उन्होंने यहां पत्रकारों से कहा, “किसी के भी खिलाफ कोई बलपूर्वक कार्रवाई नहीं की जाएगी. इसलिए किसी को भी घबराने की जरुरत नहीं है. ”कुछ लोग अनावश्यक रूप से डर का माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं. यह पूरी तरह से निष्पक्ष रिपोर्ट है. कोई भी गलत सूचना नहीं फैलानी चाहिए. यह एक मसौदा है ना कि अंतिम सूची. ”राज्यसभा की कार्यवाही शुरू होते ही तृणमूल सांसदों ने एनआरसी का मुद्दा उठाना शुरू कर दिया और सभापति के आसन के सामने पहुंच गए। हंगामे के कारण सदन की कार्यवाही को स्थगित करना पड़ा. बार-बार ऐसा होने के बाद सभापति वेंकैया नायडू ने सदन की कार्यवाही पूरे दिन के लिए स्थगित कर दी. वहीं तृणमूल कांग्रेस समेत विपक्ष ने लोकसभा में एनआरसी के ड्राफ्ट रिपोर्ट को लेकर चिंता जताई. विपक्ष का कहना था यह लाखों लोगों के नागरिक अधिकार के साथ-साथ मानवाधिकार का भी मामला है. राजनाथ सिंह के आश्वासन के बावजूद विपक्षी दलों ने इसके विरोध में वाकआउट किया.