Home देश मोदी ने कहा भारत बनेगा बड़ी अर्थव्यवस्था

मोदी ने कहा भारत बनेगा बड़ी अर्थव्यवस्था

SHARE

तीन दिवसीय वैश्विक निवेशक सम्मेलन ‘मैग्नेटिक महाराष्ट्र: कन्वर्जेस २०१८ ‘ का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था. बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स के एमएमआरडीए ग्राउंड पर आयोजित इस सम्मेलन में प्रधानमंत्री ने कहा कि कुछ वर्ष पहले जब भारत एक खरब की अर्थव्यवस्था बनकर उभरा था, तो यह खबर अखबारों की सुर्खियां बनी थी. पीएम नरेंद्र मोदी ने उम्मीद जताई कि भारत जल्द ३२० लाख करोड़ रुपये की अर्थव्यवस्था बनेगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उम्मीद जताई है कि भारत जल्द ही ३२० लाख करोड़ रुपये की अर्थव्यवस्था बनेगा. तो यह खबर अखबारों की सुर्खियां बनी थी. लेकिन इसके बाद के कुछ वर्ष घोटालों की भेंट चढ़ गए और भारत की छवि धूमिल हुई. अब पिछले तीन-चार वर्षों के निरंतर प्रयास से स्थिति फिर सुधरी है. बड़ी-बड़ी एजेंसियां कहने लगी हैं कि भारत ३२० लाख करोड़ रुपये की अर्थव्यवस्था बनने जा रहा है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुसार देश का विकास तभी हो सकता है, जब राज्यों का भी विकास हो. इन दिनों अलग-अलग राज्य में निवेश आमंत्रित करने के लिए प्रयास कर रहे हैं. कुछ दिनों पहले असम द्वारा आयोजित निवेशक सम्मेलन एडवांटेज असम इसका एक उदाहरण है. कुछ समय पहले तक कोई सोच भी नहीं सकता था कि पूर्वोत्तर का कोई राज्य वहां निवेश आमंत्रित करने के लिए ऐसा कर सकता है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि पिछले वर्ष देश में आए कुल विदेशी निवेश का ५१ फीसदी अकेले महाराष्ट्र में आया है. पीएम नरेंद्र मोदी के साथ मंच पर कुछ केंद्रीय मंत्रियों के अलावा देश-विदेश के चुनिंदा उद्योगपति भी मौजूद थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में उद्योग लगाने की प्रक्रियाओं को आसान किया जा रहा है.

पिछले तीन वर्षो में १४०० से ज्यादा जटिल कानून खत्म किए गए हैं और नए कानून बनाते समय यह ध्यान रखा जा रहा है कि उनमें जटिलता न आने पाए. यही कारण है कि देश की कई विकास परियोजनाओं की गति अब पहले से दो-तीन गुनी हो चुकी है. आम लोगों के स्वास्थ्य के लिए घोषित आयुष्मान भारत योजना का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह सारी दुनिया का ध्यान खींच रही है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि दुनिया की १/६ आबादी का भला होगा तो दुनिया का कितना भला होगा, इसका अनुमान आप लगा सकते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इससे पहले आज नई मुंबई अंतरराष्ट्रीय विमानतल का शिलान्यास करते हुए कहा कि नागर विमानन क्षेत्र में हो रही प्रगति से लाखों की संख्या में रोजगार का सृजन होगा. उड़ानों की संख्या बढ़ने से विदेशी पर्यटकों का आवागमन बढ़ेगा.

पर्यटन एक ऐसा क्षेत्र है, जो बहुत कम लागत में अधिक रोजगार पैदा कर सकता है. परियोजना में हुई देरी के लिए वह पूर्व की संप्रग सरकार की खिंचाई करने से भी नहीं चूके. उन्होंने कहा कि इस विमानतल की परिकल्पना साल १९९७ में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी द्वारा की गई थी, लेकिन बाद में आई सरकार की नीतियों के कारण यह अटकी रही.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पूर्व सरकार के स्वभाव में था लटकाना, अटकाना और भटकाना. इसके कारण १० लाख करोड़ की परियोजनाएं अटकी पड़ी थीं. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि हवाई चप्पल पहनने वालो को भी हवाई सफर का मौका मिलना चाहिए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुसार आज देश में सरकारी एवं निजी क्षेत्र की कंपनियों को मिलाकर कुल ४५० विमान ही हैं. जबकि पिछले एक साल में सरकार ने ९०० और विमान खरीदने के ऑर्डर दिए हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अनुसार ये विमान प्राप्त होने के बाद देश में नागर विमानन नक्शा बदल जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज न्हावा शेवा के जवाहरलाल नेहरू पोर्ट पर चौथे कंटेनर टर्मिनल का भी उद्घाटन किया. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि सरकार द्वारा शुरू की गई सागरमाला परियोजना सिर्फ बंदरगाहों के विकास तक सीमित नहीं है, बल्कि ये बंदरगाह ही विकास का रास्ता दिखाएंगे.